Home /News /chhattisgarh /

congress controversy councilors brought no confidence motion in lohara panchayat bjp taking advantage cgnt

कांग्रेस पार्षदों ने अपनी ही सत्ता के खिलाफ खोला मोर्चा, मौके का फायदा उठा रही बीजेपी, जानें मामला

छत्तीसगढ़ कांग्रेस में आपसी विवाद का फायदा बीजेपी उठाने की तैयारी में है.

छत्तीसगढ़ कांग्रेस में आपसी विवाद का फायदा बीजेपी उठाने की तैयारी में है.

छत्तीसगढ़ में 15 साल बाद सत्ता में आई कांग्रेस में आपसी खींचतान का मामला समाप्त नहीं हो रहा है. राज्य स्तर के नेताओं के विवाद थमने के बाद अब जिला स्तर पर पार्टी के भीतर मतभेद हो रहा है. मामला कवर्धा जिले से जुड़ा है, जहां 2 नगर पंचायतों में कांग्रेस पार्षदों ने अपने ही पार्टी के अध्यक्ष के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है, उन्होंने अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया है.

अधिक पढ़ें ...

कवर्धा. छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिला कांग्रेस पार्टी में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. 15 साल बाद सत्ता में वापसी के बाद भी कांग्रेस की आपस में तालमेल बैठ नहीं रहा है. यही वजह है कि कांग्रेस के नेता नाराज चल रहे हैं. जिसका असर नगर पंचायतों में देखने को मिल रहा है. लोहारा व पांडातराई नगर पंचायत में कांग्रेस के ही पार्षद अपनी ही पार्टी के अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ला रहे हैं. पार्टी के चुने हुए पार्षद ही पार्टी की नहीं सून रहे. कांग्रेस की कलह की आपसी कलह के चलते भाजपा को सेंध लगाने का मौका मिल गया है.

कवर्धा जिले के छह नगरीय निकाय में कांग्रेस का कब्जा है. पूरी बहुमत के साथ कांग्रेस के अध्यक्ष निर्वाचित हुए थे, लेकिन अब दो नगर पंचायतों में कांग्रेस पार्टी के ही पार्षद अपने अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ला रहे हैं. जिसकी वजह अध्यक्षों की निरंकुशता, मनमानी, उपेक्षा बताई जा रही है. लोहारा पंचायत के कांग्रेस पार्षद अजय यादव का कहना है कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को अवगत करा दिया गया है, लेकिन कोई असर नहीं होने पर बड़ा कदम पार्षदों ने उठाया है.

कांग्रेस नेताओं को भरोसा
कांग्रेस में मचे घमासान के बाद भी पार्टी को सब कुछ ऑल इज वेल लग रहा है. उन्हें लगता है कि जो भी हो रहाहै, उसमें विपक्ष का हाथ है. कांग्रेस के जिला प्रवक्ता राजकुमार तिवारी का कहना है कि हमारे पार्षदों को बरगला कर राजनीतिक अस्थिरता पैदा करना चाह रहे हैं. कांग्रेस पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव जरूर लाया है, लेकिन कोई भी अविश्वास प्रस्ताव पास नहीं होगा. सब कुछ ठीक कर लिया जाएगा.

कांग्रेस पार्टी के बागियों पर भाजपा की नजर है. वह अभी अपने पत्ते नहीं खोल रही है. एक तरह से कहें कि वेट एंड वॉच की मुद्रा में है. लोहारा में तो भाजपा कांग्रेस के बागी पार्षदों के साथ खड़ी नजर आ रही है. हांलाकि भाजपा जिलाध्यक्ष अनिल ठाकुर का मानना है कि कांग्रेस में आपसी तालमेल की कमी है. जिसके ये स्थिति बनी है. कांग्रेस के ही पार्षद भाजपा के नेताओं से मिलकर साथ देने की बात कह रहे हैं. ये सब कांग्रेस के आपसी खींचतान का नतीजा है.

2 नगर पंचायतों में अविश्वास प्रस्ताव
कांग्रेस पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग कराने की मांग कलेक्टर से की है. जिस पर कवर्धा कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने नियमानुसार कार्रवाई करने की बात कही है. पार्षदों के हस्ताक्षर मिलान के बाद आगे की प्रक्रिया पूरी की जाएगी. बता दें कि जिले के दो नगर पंचायत में अविश्वास प्रस्ताव वोटिंग होनी है. नगर पंचायत पांडातराई में तो तिथि भी तय हो गई है. आगामी 04 मई को अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग होनी है. वहीं नगर पंचायत लोहारा की तारीख भी कुछ दिनों में तय हो जाएगी.

Tags: Chhattisgarh news, Congress

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर