लाइव टीवी

कवर्धा: संगवारी कार्यक्रम में महिला MLA का अपमान, बैठने के लिए नहीं दी गई कुर्सी

Manish Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: November 1, 2019, 8:55 AM IST
कवर्धा: संगवारी कार्यक्रम में महिला MLA का अपमान, बैठने के लिए नहीं दी गई कुर्सी
कांग्रेस के जिला अध्यक्ष रामकृष्ण साहू ने दे दी MLA ममता चंद्राकर को अपनी कुर्सी

जिला पंचायत के सभा कक्ष में आयोजित शाला संगवारी कार्यक्रम में कांग्रेस की विधायक ममता चंद्राकर को बैठने के लिए कुर्सी नहीं मिली. इसके चलते काफी समय तक वो असहज खड़ी रहीं. यह देखकर एक कांग्रेस नेता शिष्टाचारवश अपनी सीट से उठ गए तब कहीं जाकर वो बैठ पाईं.

  • Share this:
कवर्धा. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कवर्धा (Kawardha) जिले में कांग्रेस की महिला विधायक ममता चंद्राकर (MLA Mamta Chandrakar) के अपमान (Insult) का मामला सामने आया है. दरअसल, यहां जिला पंचायत के सभा कक्ष में आयोजित शाला संगवारी कार्यक्रम में ममता चंद्राकर को बैठने के लिए कुर्सी नहीं मिली. इसके चलते काफी समय तक वो असहज खड़ी रहीं. यह देखकर एक कांग्रेस नेता शिष्टाचारवश अपनी सीट से उठ गए और उन्होंने विधायक ममता चंद्राकर के लिए इसे खाली कर दी, तब कहीं जाकर वो बैठ पाईं.

नहीं थी कोई कुर्सी खाली

शाला संगवारी कार्यक्रम में राज्य के वन, परिवहन, आवास एवं पर्यावरण मंत्री और कवर्धा के विधायक मोहम्मद अकबर भी मौजूद थे. कार्यक्रम शुरू होने के कुछ समय बाद विधायक ममता चंद्राकर वहां पहुंची थीं. लेकिन तब तक सभी कुर्सियां भर चुकी थीं और उनके बैठने के लिए कोई जगह नहीं थी.

कांग्रेस के जिला अध्यक्ष रामकृष्ण साहू ने दी MLA को अपनी कुर्सी

कार्यक्रम में अधिकारी और छुटभैये नेता सभा कक्ष में अपनी-अपनी कुर्सी पकड़कर बैठे हुए थे. काफी समय तक जब कोई नहीं उठा तो कांग्रेस के जिला अध्यक्ष रामकृष्ण साहू विधायक के लिए अपनी कुर्सी छोड़कर पीछे चले गए. तब कहीं जाकर विधायक ममता चंद्राकर को बैठने के लिए कुर्सी मिल सकी. बाद में इस घटना की दिन भर चर्चा होती रही.

ये भी पढ़ें:- बीजापुर में शराब की दुकान ने बढ़ाई परेशानी, नशेड़ी करते हैं ये हरकत

पत्रकार रवीश कुमार को सम्मानित करेगी छत्तीसगढ़ सरकार, इन्हें भी मिलेगा अलंकरण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कवर्धा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 7:21 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...