मां को काम पर छोड़ने घर से निकला, पर टूटकर गिरा हाईटेंशन तार नहीं देख पाया बच्चा, फिर...
Kawardha News in Hindi

मां को काम पर छोड़ने घर से निकला, पर टूटकर गिरा हाईटेंशन तार नहीं देख पाया बच्चा, फिर...
मामले की जांच पुलिस कर रही है.

नाबालिग अपनी मां को रोजगार गांरटी के काम में जाने के लिए कार्यस्थल तक छोड़ने जा रहा था. सुबह-सुबह अंधेरा था, बालक खंभे से टूटकर गिरा बिजली का तार नहीं देख पाया. उसका पैर तार के संपर्क में आ गया.

  • Share this:
कवर्धा. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कवर्धा (Kawardha) जिले में एक नाबालिग लड़के की करंट (Current) के चपेट में आने से मौत हो गई. बताया जा रहा है कि खंभे से हाईटेंशन तार टूटकर नीचे जमीन पर गिरा हुआ था. इसी के संपर्क में आने से नाबालिग की मौके पर ही मौत (Dead) हो गई. घटना पांडातराई थाना क्षेत्र के ग्राम दशरंगपुर की बताई जा रही है. मृतक की पहचान कर ली गई है. हादसे के बाद पुलिस को जानकारी दी गई. फिलहाल मामले की जांच पुलिस कर रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक गुरुवार सुबह नाबालिग अपनी मां को रोजगार गांरटी के काम में जाने के लिए कार्यस्थल तक छोड़ने जा रहा था. सुबह-सुबह अंधेरा था, बालक खंभे से टूटकर गिरा बिजली का तार नहीं देख पाया. उसका पैर तार के संपर्क में आ गया. मां जब तक कुछ समझ पाती बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई. पांडातराई पुलिस घटना में मर्ग कायम कर विवेचना कर रही है. शव का पीएम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है.

पुलिस कर रही जांच



बताया जा रहा है कि गांव में रोजगार गारंटी के तहत कार्य चल रहा है जिसमें गांव के लोग मजदूरी करने जाते हैं. इसी काम में मृतक की मां भी जाती थी. काम सुबह-सुबह ही शुरू हो जाता है. मां ने बेटे से कहा कि वह उसे कार्यस्थल तक छोड़ दे. छोड़ने के बाद घर वापस आ जाना. लेकिन उस मां को क्या पता था,जो बेटा उसे मनरेगा के काम में छोड़ने जा रहा है. वह उसे हमेशा के लिए छोड़ कर चला जाएगा. मनरेगा का सुबह-सुबह शुरू कराया जाता है. लिहाजा मजदूर पांच बजे से पहले-पहले काम पर पहुंच जाते हैं. यही वजह रही कि मृतक की मां सुबह ही जाने निकल गई थी. वहीं इस पूरे मामले में पांडातराई थाना प्रभारी बीपी तिवारी ने बताया कि घटना की सूचना मिली थी. तार टूटने के चलते ये हादसा हुआ. फिलहाल मर्ग कायम कर घटना की विवेचना की जा रही है. जांच में जो तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी.

 

ये भी पढ़ें: 

प्रवासी मजदूरों से CM भूपेश बघेल ने कहा- आप छत्तीसगढ़ी परिवार का हिस्सा, लेकिन...

CGBSE Exam 2020: छत्तीसगढ़ में नहीं होंगे 10वीं और 12वीं के बचे पेपर, ऐसे दिए जाएंगे नंबर 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज