Assembly Banner 2021

कवर्धा: ड्रायविंग के दौरान हार्ट अटैक से बस ड्राइवर की मौत

सांकेतिक फोटो

सांकेतिक फोटो

छत्तीसगढ़ के कवर्धा में एक बस ड्राइवर को बस चलाते समय ही हार्ट अटैक आ गया. इसके बाद बस चालक ने 30 से 40 यात्रियों से भरी बस को सावधानीपूर्वक रोक दिया.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के कवर्धा में एक बस ड्राइवर को बस चलाते समय ही हार्ट अटैक आ गया. इसके बाद बस चालक ने 30 से 40 यात्रियों से भरी बस को सावधानीपूर्वक रोक दिया. इससे यात्रियों को कोई नु​कसान नहीं हुआ, लेकिन बस चालक की मौके पर ही मौत हो गई. मृतक बस चालक के परिजनों को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने एक लाख रुपये की सहायता राशि देने की बात कही है.

कवर्धा निवासी वाहन चालक संतोष पात्रे के परिवार को एक लाख रुपए की सहायता देने की घोषणा सीएम ने की है. उन्होंने यह राशि स्वेच्छानुदान के मद से मंजूर की है. मुख्यमंत्री ने बस ड्रायविंग के दौरान संतोष पात्रे की हृदयाघात से मृत्यु पर गहरा दुःख व्यक्त किया है और उनकी कर्तव्यपरायणता की तारीफ की.

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि स्वर्गीय पात्रे ने अचानक हृदयाघात होने के बावजूद लगभग 30 से 40 यात्रियों से भरी बस को सुरक्षित रोककर सभी यात्रियों को एक बड़ी दुर्घटना से बचा लिया. यह उनकी कर्त्तव्यनिष्ठा और सेवाभावना का परिचायक है, जो सभी लोगों के लिए अनुकरणीय है. इसके बाद सीएम ने राजधानी रायपुर में उनके परिवार के लिए एक लाख रूपए के स्वेच्छानुदान की तत्काल घोषणा कर दी.



बता दें कि संतोष पात्रे जिला मुख्यालय कवर्धा स्थित अटल आवास कालोनी के निवासी थे और एक प्राइवेट बस कम्पनी में वाहन चालक के रूप में काम कर रहे थे. उन्होंने प्रतिदिन की तरह ही बीते गुरुवार को भी कवर्धा से दुर्ग जाने वाली बस की ड्रायविंग सीट पर अपना काम संभाला और कवर्धा से सहसपुर लोहारा होते हुए दुर्ग के लिए रवाना हुए, लेकिन सवेरे 7.30 बजे के आसपास सहसपुर लोहारा से बस आगे रवाना हुई तो एक किलोमीटर जाने के बाद पात्रे को सीने में दर्द शुरू हो गया. इसके बावजूद उन्होंने बस की रफ्तार को अपनी सूझ-बूझ से नियंत्रित करते हुए एक स्थान पर खड़ा कर दिया. इस घटना के बाद यात्रियों को दूसरी बस से गंतव्य के लिए रवाना किया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज