अपना शहर चुनें

States

गांव छोड़कर जाने का फरमान नहीं माना तो जला दिया गया महिला का घर

Demo Pic
Demo Pic

कथित रूप से अवैध संबंध के चलते गर्भवती होना गांव वालों को नागवार गुजरा, उसे समाज से अलग किया गया.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के कवर्धा में एक लाचार बैगा महिला की दु:ख भरी दास्तां सामने आई है. मामला कवर्धा के बोड़ला थाना क्षेत्र के ग्राम गांगचुवा का है. पहले तो इसे पति ने छोड़ा फिर बाद में प्रेमी ने भी छोड़ दिया. पीड़ित बैगा महिला के पहले पति से एक पांच साल का बेटा है, जो उसी के साथ रहता है. पति ने उसे दो साल पहले छोड़ दिया था. उसके बाद वह प्रेमी के संपर्क में आई. जिसकी तरफ से वह आठ माह की गर्भवती है.

मिली जानकारी के अनुसार प्रेमी भी महिला को छोड़कर चला गया है, जो कि खुद शादीशुदा है. महिला पति और प्रेमी दोनों का दंश झेल ही रही थी कि गांव वालों का कथित सामाजिक न्याय जाग गया. कथित रूप से अवैध संबंध के चलते गर्भवती होना गांव वालों को नागवार गुजरा, उसे समाज से अलग किया गया. साथ ही गांव छोड़कर जाने के लिए भी कह दिया गया, लेकिन महिला नहीं गई.

गांव वालों के इस फरमान को नहीं मानने के बाद कुछ अज्ञात लोगों ने महिला का घर जला दिया. उसे दर-दर की ठोकर खाने के लिए मजबूर कर दिया गया. महिला ने मामले की शिकायत बोड़ला थाने में की है. पुलिस ने इस गर्भवती महिला को सखी वनस्टॉप सेंटर भेज दिया है. जहां इसकी देखरेख की जा रही है.



पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार महिला का प्रेमी ओडिशा गया हुआ है. कवर्धा जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी एलआर कच्छप ने बताया कि पुलिस व महिला बाल विकास की टीम ओडिशा रवाना होगी. उसके आने के बाद ही खुलासा हो पाएगा कि प्रेमी उसे अपनाता है या इंकार करता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज