होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /

दूल्हा पहुंचने से पहले ही मंडप में पहुंची पुलिस, दुल्हन को ले गई साथ, जानें- पूरा मामला

दूल्हा पहुंचने से पहले ही मंडप में पहुंची पुलिस, दुल्हन को ले गई साथ, जानें- पूरा मामला

छत्तीसगढ़ के कवर्धा में पुलिस व प्रशासन की टीम ने बाल विवाह रूकवाया.

छत्तीसगढ़ के कवर्धा में पुलिस व प्रशासन की टीम ने बाल विवाह रूकवाया.

शादी के लिए मंडप सज चुका था, बाराती दूल्हे के साथ निकलने की तैयारी कर रहे थे. बारातियों के स्वागत के लिए वधु पक्ष के लोग तैयार थे. इतने में शादी के मंडप में दूल्हे की जगह पुलिस व प्रशासन की टीम पहुंच गई. कुछ देर हंगामे के बाद पुलिस वाले दूल्हन को ही अपने साथ लेकर चले गए. मामला छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले का है.

अधिक पढ़ें ...

कवर्धा. छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिला प्रशासन ने अक्ती त्योहार के अवसर पर हो रहे नाबालिग लड़की की शादी रुकवाने में सफलता पाई है. नाबालिग लड़की की बीते मंगलवार की रात बारात आने वाली थी. इसकी सूचना प्रशासन को हुई. मौके पर पुलिस के साथ पहुंचकर प्रशासन की टीम ने बाल विवाह रूकवाया. बाल विवाह का मामला कोतवाली थाने के ग्राम हरिनछपरा गांव का है, जहां नाबालिग लड़की की बारात ग्राम रघुनाथपुर से आने वाली थी, लेकिन नाबालिग के घर बारात से पहले ही सरकारी बाराती पहुंच गए.

पुलिस की टीम के साथ पहुंची प्रशासन की टीम ने नाबालिग की शादी रूकवाई. साथ ही मां-बाप व परिजनों को समझाइस दी. शादी न करने के लिए मनाने का प्रयास किया, लेकिन जब वे नहीं माने तो नाबालिग लड़की को टीम अपने साथ ले आई.  उसे बाल संरक्षण समिति के सामने पेश किया गया, जहां समिति ने नाबालिग को सखी सेंटर भेजने का निर्णय लिया है. मंडप में दूल्हा पहुंचने से पहले ही पुलिस के पहुंचने के इस मामले की चर्चा पूरे क्षेत्र में हो रही है. इस सूचना के बाद बारात जाने के लिए दूल्हे के घर पहुंचे मेहमान भी वापस लौट गए.

अलर्ट मोड पर था जिला प्रशासन
बता दें कि जिला प्रशासन शादी ब्याह को लेकर पहले से ही अलर्ट मोड पर था. ग्रामीण क्षेत्र में अक्ती त्योहार को लेकर प्रशासन ने छापेमार कार्रवाई की है, जिसमें सूचना के आधार पर एक जगह सफलता मिली है. प्रशासन के लोगों ने गांव वालों को भी बताया कि नाबालिग की शादी कराना जुर्म है. आगे भी होने वाली ऐसी शादी को लेकर जिला प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि वे नाबालिग लड़के या लड़की की शादी ना करें. अगर को नाबालिग की शादी होने की सूचना मिलती है तो तत्काल जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन को इसकी जानकारी दे सकते हैं. जानकारी देने वाले का नाम पता गोपनीय रखा जाएगा.

Tags: Chhattisgarh news, Kawardha news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर