Home /News /chhattisgarh /

three time mla narayan chandel appointed new legislative party leader due to upcoming chhattisgarh assembly election 2023 nodps

छत्तीसगढ़ में सियासी उठापटक, नारायण चंदेल बने विधानसभा के नए नेता प्रतिपक्ष, बोले- 2023 एकमात्र लक्ष्य

नारायण चंदेल जांजगीर से विधायक हैं. चंदेल तीसरी बार विधायक का पद संभाल रहे हैं.

नारायण चंदेल जांजगीर से विधायक हैं. चंदेल तीसरी बार विधायक का पद संभाल रहे हैं.

छत्तीसगढ़ में सियासी समीकरण लगना शुरू हो चुके हैं. अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले सियासी दल जद्दोजहद में जुट गए हैं. बुधवार को छत्तीसगढ़ में भाजपा दल के विधायकों की बैकर संपन्न हुई है. इस बैठक में नारायण चंदेल को विधानसभा के नए नेता प्रतिपक्ष के रूप में चुना गया. धरमलाल कौशिश की इस पद से छुट्टी हो गई है. ओबीसी समुदाय से आने वाले नारायण चंदेल जांजगीर से विधायक हैं. चंदेल तीसरी बार विधायक का पद संभाल रहे हैं. इससे पहले 1998 और 2008 में भी विधायक रह चुके हैं.

अधिक पढ़ें ...

रायपुर. अगले साल 2023 छ्त्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव से पहले ही प्रदेश में सियासी उठापटक जारी है. बुधवार को छत्तीसगढ़ की राजनीति के लिए अहम खबर आई है. नारायण चंदेल को छत्तीसगढ़ विधानसभा का नया नेताप्रतिपक्ष बनाया गया है. बुधवार को हुई भाजपा के विधायक दल की बैठक के बाद इसकी घोषणा कर दी गई है. इस बैठक में प्रदेश के सह प्रभारी नितिन नवीन और संगठन के महामंत्री अजय जामवाल भी मौजूद थे. धरमलाल कौशिक की नेता प्रतिपक्ष के पद से छुट्टी हो गई है.

बीजेपी प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी ने विधायक दल की मीटिंग में बंद लिफाफे से नेता प्रतिपक्ष का नाम निकाला और घोषणा की. बैठक के बाद सभी विधायकों ने नारायण चंदेल को बधाई दी. वहीं मिडिया से रूबरू होते हुए भाजपा ने नए नेताप्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने कहा कि सर्वसम्मति से मुझे विधायक दल का नेता बनाया गया है. हाईकमान का पार्टी के सभी वरिष्ठ नेताओं का धरमलाल कौशिक का बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं.

मैं विधायक साथियों का आभार व्यक्त करता हूं, जिन्होंने सर्व सहमति से एकमत होकर के एक बड़ी जिम्मेदारी मुझे सौंपी है. बता दें कि नारायण चंदेल जांजगीर से विधायक हैं. चंदेल तीसरी बार विधायक का पद संभाल रहे हैं. इससे पहले 1998 और 2008 में भी विधायक रह चुके हैं.

2023 में छत्तीसगढ़ में कमल खिलाना एकमात्र लक्ष्य
नए नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल ने न्यूज़18 से की खास बातचीत में बताया कि छत्तीसगढ़ में अगले 2023 विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को उखाड़ फेंकना है. प्रदेश सरकार की नाकामी को सड़क से लेकर संसद तक रखने का लक्ष्य रखा गया है. 2023 के विधानसभा चुनावों में छत्तीसगढ़ में एक बार फिर से कमल खिलाना ही एकमात्र लक्ष्य है. नारायण चंदेल भी ओबीसी वर्ग से आते हैं.

बीते दिनों भाजपा ने अरुण साव को प्रदेश अध्यक्ष के पद की जिम्मेदारी सौंपी थी. अरुण भी ओबीसी वर्ग से आते हैं. बीते 2018 के चुनावों में प्रदेश का ओबीसी समुदाय कांग्रेस के साथ दिखा था. इसके बाद अगले साल होने वाले चुनावों से पहले माना जा रहा है कि भाजपा ओबीसी समुदाय के वोटर्स पर भी नजर रखे हुए है.

Tags: Chhattisgarh news, Raipur news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर