एक-एक लाख के इनामी दो नक्सली सहयोगियों को पुलिस ने दबोचा

दोनों ही पिछले 15 वर्ष से नक्सलियों के लिए काम कर रहे थे. दोनों ही तेंदु पत्ता व सड़क निर्माण ठेकेदारों और गांव वालों से वसूली किया करते थे. इन्हीं की निशादेही पर पुलिस मुखबिरी के मामलों को लेकर हत्याएं की जाती थीं.

Vivek Shrivastava | News18 Chhattisgarh
Updated: May 18, 2018, 3:27 PM IST
एक-एक लाख के इनामी दो नक्सली सहयोगियों को पुलिस ने दबोचा
दबोचे गए दो नक्सली सहयोगी
Vivek Shrivastava | News18 Chhattisgarh
Updated: May 18, 2018, 3:27 PM IST
कोंडागांव में सर्चिंग ऑपरेशन के दौरान पुलिस ने एक-एक लाख रुपये के इनामी दो नक्सली सहयोगियों को गिरफ्तार किया. गिरफ्तार हुए दोनों नक्सलियों पर आदनार गांव और कोहकाड़ी गांव में सुपारी किलिंग की घटना से जुड़े होने का आरोप है. दोनों नक्सली सहयोगियों में से एक गांव का पंच भुरसू सलाम है जो वसूली के पैसे पहुंचाने का काम किया करता था और दूसरा लेखन कोर्राम माओवादी संगठन के शहरी नेटवर्क का सदस्य है.

कोंडागांव के एसपी अभिषेक पल्लव ने दोनों नक्सली सहयोगियों के पकड़े जाने को पुलिस की एक बड़ी सफलता बताते हुए कहा कि 28 मार्च को बयानार थाना क्षेत्र के आदनार में दो ग्रामीणों की हत्या और हाल ही में मर्दापाल के कोहाकड़ी गांव में एक महिला की हत्या हुई थी. हत्या के ये दोनों मामले नक्सलियों के सुपारी किलिंग से जुड़े थे. हत्या की इस घटना के बाद से ही पुलिस लगातार नक्सलियों के सहयोगियों पर नजर रख रही थी.

एसपी ने आगे कहा कि हत्या के आरोपी लगातार फरार चल रहे थे. पुलिस को कल उनके गांव में आने की खबर मिली तब बयानर पुलिस ने हत्या के दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. एसपी ने कहा कि दोनों ही पिछले 15 वर्ष से नक्सलियों के लिए काम कर रहे थे. दोनों ही तेंदु पत्ता व सड़क निर्माण ठेकेदारों और गांव वालों से वसूली किया करते थे. इन्हीं की निशादेही पर पुलिस मुखबिरी के मामलों को लेकर हत्याएं की जाती थीं. पिछले माह हुई तीन हत्याओं के पीछे इन्हीं दोनों लोगों के हाथ होने का आरोप है. पुलिस की पकड़ में आने के बाद नक्सली भुरसू ने कहा कि वह पंच की आड़ में नक्सलियों के लिए काम करता था.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर