नेशनल हाइवे 30 पर टोल टैक्स वसूली का विरोध, कांग्रेस ने मोदी सरकार पर लगाए ये आरोप

Vivek Shrivastava | News18 Chhattisgarh
Updated: August 21, 2019, 5:19 PM IST
नेशनल हाइवे 30 पर टोल टैक्स वसूली का विरोध, कांग्रेस ने मोदी सरकार पर लगाए ये आरोप
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कोंडागांव में नेशनल हाइवे-30 (National Highway- 30) पर टोल टैक्स वसूली शुरू होते ही विवादों का सिलसिला भी शुरू हो चुका है.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कोंडागांव में नेशनल हाइवे-30 (National Highway- 30) पर टोल टैक्स वसूली शुरू होते ही विवादों का सिलसिला भी शुरू हो चुका है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कोंडागांव में नेशनल हाइवे-30 (National Highway- 30) पर टोल टैक्स वसूली शुरू होते ही विवादों का सिलसिला भी शुरू हो चुका है. टोल टैक्स (Toll Tax) की वसूली का विरोध करते हुए कांग्रेस (Congress) कार्यकर्ताओं ने बुधवार को टोल नाका में धरना दिया. साथ ही केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार (Narendra Modi Govt.) के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इसके अलावा मोदी सरकार पर आम लोगों को परेशान करने का आरोप भी लगाया. प्रदर्शनकारी कांग्रेसियों ने सड़क (Road) निर्माण में गुणवत्ता के मानकों को पूरा करने में लापरवाही बरतने का आरोप भी लगाए हैं.

कोंडागांव (Kondagaon) में नेशनल हाइवे 30 पर केन्द्रीय सड़क परिवहन ने तीन टोल टैक्स (Toll Tax) प्लाजा शुरू कर वसूली शुरू कर दी है. जबकि सड़क (Road) अधूरी बनी हुई है. नेशनल हाइवे (National Highway) से गुजरने वाले वाहनों के चालकों को तीनों टोल नाके पर टैक्स (Tax) देना पड़ रहा है. इसका विरोध करते हुए कोंडागांव जिला कांग्रेस (Congress) कमेटी ने टोल प्लाजा में धरना (Protest) दिया. कांग्रेस (Congress) के प्रदेश संयुक्त महामंत्री शान्ति लाल सुराना ने कहा कि अभी सड़क पूरी बनी नहीं है और टैक्स लिया जा रहा, जो की पूरी से अवैध है.

आनन फानन में वसूली
कोंडागांव (Kondagaon) में विधायक प्रतिनिधि शिशिर श्रीवास्तव ने कहा कि आधे अधूरे व घटिया निर्माण के बाद आनन फानन में टोल बसूली चालू कर दी गई. बेडमा से माकड़ी ढाबा तक की सडक गायब हो चुकी है. पहले नोटबंदी फिर जीएसटी अब सड़क में चलने पर केन्द्र की मोदी सरकार वसूली कर रही है. उन्हें जनता के हितों से कोई मतलब नहीं. यहां तक कि स्थानीय पंजीकृत वाहनों को भी नहीं छोड़ रहे हैं. यदि समस्या का निराकरण जल्द नहीं हुआ तो जिला कांग्रेस कमेटी और अधिक उग्र प्रदर्शन करने को बाध्य हो जाएगी. इसके लिए नेशनल हाइवे प्रबंधन व स्थानीय प्रशासन ही जिम्मेदार होगा.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में एडमिशन का हाल: BE की 70 फीसदी सीटें खाली, इन कॉलेजों में नहीं खुला खाता 

ये भी पढ़ें: दुर्ग से अपरण किया गया मौलिक साहू सोमनी में बरामद, पुलिस ने परिवार वालों को सौंपा 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोंडागांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 5:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...