लाइव टीवी

अनोखा स्कूल: Saturday-Sunday को भी लगती है क्लास, दो टिफिन लेकर आते हैं बच्चे

Vivek Shrivastava | News18 Chhattisgarh
Updated: January 25, 2020, 5:26 PM IST
अनोखा स्कूल: Saturday-Sunday को भी लगती है क्लास, दो टिफिन लेकर आते हैं बच्चे
कोण्डागांव के इस खास स्कूल के बारे में क्या जानते हैं आप. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इस स्कूल में न तो शनिवार को हाफ डे होता और न ही सन्डे की छुट्टी. रोज नौ घंटे पढ़ाई होती है और बच्चे दो टिफिन लेकर स्कूल आते हैं.

  • Share this:
कोण्डागांव.  छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में कई जगह जहां पढ़ाई के दिन भी शिक्षक (Teacher) नहीं आते है. वहीं एक ऐसा स्कूल भी है जहां शनिवार और रविवार को बच्चे पढ़ने आते हैं और शिक्षक पढ़ाने. शिक्षक और छात्र-छात्राओं की ये अनोखी कहानी है कोण्डागांव (Kondagaon) के मसोरा हाई स्कूल की जहां बच्चों को पढ़ाने की ललक और भविष्य गढ़ने का चाहत के चलते छुट्टी के दिन भी स्कूल में पढ़ाई हो रही है. इस स्कूल में न तो शनिवार को हाफ डे होता और न ही सन्डे की छुट्टी. रोज नौ घंटे पढ़ाई होती है और बच्चे दो टिफिन लेकर स्कूल आते हैं.

ऐसे हुई शुरुआत

कोंडागांव से लगे हुए ग्राम मसोरा के हाई स्कूल की व्याख्याता तनूजा देवांगन का कहना है कि छिमाही की परीक्षा का परिणाम काफी कमजोर आया. परेशान और मायूस बच्चों ने स्कूल के प्रिंसिपल से ट्यूशन पढ़ाने की बात की. पर प्राचार्य ने सामूहिक प्रयास के जरिए आगे बढ़ने की बात की और सुबह दस बजे लगने वाले स्कूल का समय सुबह आठ बजे कर दिया. प्राचार्य की इस पहल में साथ स्कूल के स्टाफ और  महिला शिक्षकों ने दिया.

chhattisgarh news, cg news, kondagaon news, unique school, unique school in chhattisgarh, education department, cg education department, छत्तीसगढ़ न्यूज, सीजी न्यूज, कोण्डागांव न्यूज, कोण्डागांव में अनोखा स्कूल, छत्तीसगढ़ का अनोखा स्कूल, स्कूल शित्रा विभाग, छत्तीसगढ़ शिक्षा विभाग
कोण्डागांव के इस स्कूल में शनिवार और रविवार को भी क्लास लगती है.


ग्रामीण अंचल होने के कारण बच्चे जैसे ही स्कूल से घर जाते है, तो वह पढ़ाई नहीं कर पाते और उनको कुछ न कुछ घर या खेत का काम करना पड़ता है, जिससे इनकी पढ़ाई प्रभावित होती है. पढ़ाई का माहौल बदलने और शिक्षको की लगातार मॉनिटरिंग से आज बच्चों का खोया आत्मविश्वास वापस लौट आया. जो बच्चे छिमाही का रिजल्ट देखकर मायूस थे, वही बच्चे आज कुछ बनने का जोश लेकर सिर्फ पढ़ाई की बात कर रहे हैं.

chhattisgarh news, cg news, kondagaon news, unique school, unique school in chhattisgarh, education department, cg education department, छत्तीसगढ़ न्यूज, सीजी न्यूज, कोण्डागांव न्यूज, कोण्डागांव में अनोखा स्कूल, छत्तीसगढ़ का अनोखा स्कूल, स्कूल शित्रा विभाग, छत्तीसगढ़ शिक्षा विभाग
बच्चों के साथ स्कूल के प्रिंसिपल.


 प्रिंसिपल ने की कोशिश

स्कूल में बच्चों की शिक्षा व्यवस्था में सुधार लाने की जिम्मेदारी स्कुूल के प्राचार्य शिवलाल शर्मा ने उठाई . पहले बच्चों के माता पिता को इस बात के लिए तैयार किया. शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए स्कूल में 9 घंटे पढ़ाई के साथ ही शनिवार-रविवार को भी छुट्टी नहीं होगी. आज उनके प्रयास का नतीजा है कि सभी बच्चे 2 टिफ़िन लेकर स्कूल आते हैं और छुट्टी के दिन भी पढ़ना चाहते हैं. प्राचार्य शिवलाल शर्मा कहते हैं कि शुरुआत में थोड़ी परेशानी हुई, लेकिन फिर बच्चों में पढ़ाई को लेकर जबरदस्त रुची पैदा हो गई.

 

ये भी पढ़ें: 

पिता ने 14 साल की नाबालिग बेटी से किया रेप, कोर्ट ने सुनाई ये सजा 

11वीं का छात्र 4 दिन से लापता, रोती मां ने कहा- नींद नहीं आती..लौट आओ बेटा! 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोंडागांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 25, 2020, 5:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर