शिक्षक नहीं दे पाए जानकारी तो कलेक्‍टर ने जमकर ली क्‍लास

Vivek Shrivastava | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 13, 2017, 12:47 AM IST
शिक्षक नहीं दे पाए जानकारी तो कलेक्‍टर ने जमकर ली क्‍लास
चयन समिति के सामने अध्‍यापन का डेमो देते शिक्षक प्रत्‍याशी.
Vivek Shrivastava | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: August 13, 2017, 12:47 AM IST
छत्‍तीसगढ़ के कोंडागांव में कोचिंग सेंटर में चयन के लिए आए शिक्षकों से पढ़ाने और विषय विशेष का डेमो लेते समय जब वे ठीक से जानकारी नहीं दे पाए, तो कलेक्टर ने उनकी जमकर क्लास ली. चयन के लिए पहुंचे शिक्षकों को कलेक्टर ने प्रश्नों के हल बताते हुए पढ़ाने के तरीके बताए.

दरअसल आदिवासी बहुल कोंडागांव जिले में शिक्षा का स्तर बढ़ाने और यहां के बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराने के लिए जिला प्रशासन कोचिंग सेंटर शुरू करने जा रहा है. इस कोचिंग सेंटर के जरिये 12वीं के बच्चों को नीट, आईआईटी, पीएमटी जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराई
जाएगी.

जिला प्रशासन जो कोचिंग सेंटर शुरू करने जा रहा है, उसमें चयनित सौ बच्चों को निशुल्क कोचिंग दी जाएगी. इस कोचिंग सेंटर के लिए विषय विशेषज्ञ शिक्षकों का चयन किया जा रहा है. शनिवार को कलेक्‍टर, डिप्‍टी कलेक्टर और अन्य अधिकारियों की समिति के सामने चयन के लिए आए शिक्षकों का विषय ज्ञान और पढ़ाने के तरीकों का डेमो लिया गया.

इस दौरान चयन के लिए आए कई उम्मीदवार अपने विषय को लेकर सही तरीके से जानकारी और डेमो नहीं दे पाए. इस दौरान कलेक्टर समीर विश्नोई ने स्वयं उम्मीदवार शिक्षकों की क्लास लेते हुए उन्हें पढ़ाना शुरू कर दिया. कलेक्टर समीर विश्नोई ने कहा कि जो उम्मीदवार आए थे, वे अपने विषय को लेकर सही जानकारी नहीं दे पा रहे थे, जिसकी वजह से उन्हें पढ़ाना पड़ा.
First published: August 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर