ठगी के मामले में गिरफ्तार नाइजीरियन युवक पुलिस रिमांड पर

कोरबा पुलिस ने लाखों की ठगी के मामले में दिल्‍ली से गिरफ्तार किए गए नाइजीरियन युवक को लाकर कोरबा कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे तीन दिन के पुलिस रिमांड पर सौंप दिया गया.

Abdul Aslam | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 7:34 PM IST
ठगी के मामले में गिरफ्तार नाइजीरियन युवक पुलिस रिमांड पर
पुलिस हिरासत में नाइजीरियन ठग.
Abdul Aslam
Abdul Aslam | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 7:34 PM IST
कोरबा पुलिस ने लाखों की ठगी के मामले में दिल्‍ली से गिरफ्तार किए गए नाइजीरियन युवक को लाकर कोरबा कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे तीन दिन के पुलिस रिमांड पर सौंप दिया गया. पुलिस उससे पूछताछ कर रही है और उसे ठगी के और भी मामलों का खुलासा होने की उम्‍मीद है.

आपको बता दें कि आरोपी ने कोरबा की एक महिला से 21 लाख रुपए की ठगी की थी. मामला जिले के रामपुर चौकी क्षेत्र का है. यहां एमपी नगर निवासी रिटायर्ड महिला प्रोफेसर मंजूला पांडेय के साथ ठगी हुई थी. आरोपी नाइजीरियन युवक ने फेसबुक पर स्वयं को रशियन नागरिक व बहुत धनवान बताया था. उसने महिला प्रोफेसर से चेटिंग करते हुए उन्‍हें महंगे गिफ्ट देने के बहाने झांसे में लिया और उनसे 21 लाख रुपए अलग-अलग भारतीय खातों में जमा करवा लिए.

प्रोफेसर मंजूला पांडेय को जब ठगे जाने का एहसास हुआ तो उन्‍होंने मामले की शिकायत रामपुर को की. पुलिस ने जांच के बाद एक माह पहले आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज की थी. साइबर सेल की मदद से की गई जांच में दिल्ली के नाईजीरियन गिरोह के सदस्य की संलिप्तता का पता चला.

इसके बाद आरोपी की पतासाजी व गिरफ्तारी के लिए पुलिस की एक टीम दिल्ली भेजी गई. उसने तीन दिन दिल्ली में रहकर मयूरगंज से आरोपी नाइजीरियन चार्ल्स वारेन को गिरफ्तार किया. उसका असली नाम नान्ना वितुस इवेनन्ना है. उसे स्थानीय कोर्ट में पेश करके ट्रांजिट रिमांड पर लिया गया और फिर कोरबा लाकर कोर्ट में पेश किया गया. कोर्ट ने उसे तीन दिन की पुलिस रिमांड पर सौंप दिया. फिलहाल पुलिस उससे पूछताछ कर रही है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर