अपना शहर चुनें

States

छत्तीसगढ़: ब्लू व्हेल गेम के बाद अब PUBG बना खतरा, पैसेंट्स ने की प्रतिबंध लगाने की मांग

परिजनों का कहना है कि बच्चे पढ़ाई-लिखाई छोड़ इस गेम में व्यस्त रहते है.
परिजनों का कहना है कि बच्चे पढ़ाई-लिखाई छोड़ इस गेम में व्यस्त रहते है.

कोरबा के अभिभावकों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंप कर ऑनलाइन गेम पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में जानलेवा ब्लू वेल गेम के बाद अब पब जी (PUBG) ऑनलाइन गेम पर प्रतिबंध लगाने की मांग हो रही है. खेल को बैन करने की मांग को लेकर अभिभावक लामबंद हो गए हैं. अभिभावकों का कहना है कि गेम से बच्चों की बौद्धिक और शारीरिक विकास में कमी आ रही है. कोरबा के अभिभावकों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंप कर ऑनलाइन गेम पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है.

PUBG से बढ़ रहा बच्चों में एडिक्शन:
परिजनों का कहना है कि बच्चे पढ़ाई-लिखाई छोड़ इस गेम में व्यस्त रहते हैं. इस वजह से पढ़ाई में बच्चे कमजोर हो रहे हैं. बच्चों का दिन से लेकर देर रात तक गेम में व्यस्त रहना, उनके लिए चिंता का विषय बन गया है. अभिभावकों ने कहा कि पब जी गेम को जैसे पांच देशों में प्रतिबंधित किया गया है, वैसे ही भारत में भी इस गेम पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए.

एक्सपर्ट्स ने कही ये बात:
छात्रा कृतिका का कहना है कि गेम को गेम ही रहने देना चाहिए. उसके आदी होना ठीक नहीं. वहीं एक्सपर्ट कल्पना मिश्रा का कहना है कि पब जी गेम ऐसा गेम है, जिसे खेलने पर बच्चे उसके आदी हो जाते हैं, कहा जाए तो यह गेम एडिक्शन गेम है. बच्चों का मन इस गेम को बार-बार खेलने का करता है. बच्चे इसे खेल रहे हैं और मानसिक रूप से कमजोर हो रहे हैं. इसका आंखों पर भी बुरा प्रभाव पढ़ रहा है. बच्चे पढ़ाई में रुचि नहीं ले रहे हैं. अभिभावक और टीचर्स के डांटने पर बच्चे आत्मघाती कदम तक उठा रहे हैं. ऐसे गेम पर सरकार को जल्द प्रतिबंध लगाना चाहिए.



ये भी पढ़ें: 

PHOTOS: तीन दिनों से बंधक था 8 फीट का अजगर, ऐसी हालत में वन विभाग ने कराया रिहा 

Article 370 : रचा गया नया इतिहास, आजादी के बाद से इससे बड़ा फैसला नहीं हुआ: डॉ. रमन सिंह
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज