• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • Korba News: जब खाट पर लिटाकर गर्भवती को अस्पताल पहुंचाकर डायल 112 ने निभाया फर्ज

Korba News: जब खाट पर लिटाकर गर्भवती को अस्पताल पहुंचाकर डायल 112 ने निभाया फर्ज

प्रसव पीड़ित महिला की मदद को जब पहुंची डायल 112, रास्ते में फंसी गाड़ी तो खाट पर लिटाकर महिला को पहुंचाया अस्पताल.

प्रसव पीड़ित महिला की मदद को जब पहुंची डायल 112, रास्ते में फंसी गाड़ी तो खाट पर लिटाकर महिला को पहुंचाया अस्पताल.

कोरबा के एक गांव में महिला को देर रात प्रसव पीड़ा हुई. गांव के लोगों ने डायल 112 की मदद मांगी, लेकिन गांव के रास्ते में उनकी गाड़ी फंस गई. उधर महिला की बिगड़ती हालत की फिक्र में डायल 112 के सिपाही पैदल ही गांव पहुंचे और खाट पर लिटाकर प्रसव पीड़िता को अस्पताल ले जाने निकल पड़े. अस्पताल में सफल प्रसव के बाद जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ्य हैं.

  • Share this:
कोरबा. कोरबा (korba) में आपात हालातों में बीमार और घायलों को सुरक्षित ढंग से बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाने में डायल 112 की टीम अच्छा काम कर रही है. इस टीम ने मुश्किल परिस्थितियों में फिर से एक बार अपनी उपयोगिता साबित की है. टीम के जवान ने न सिर्फ महिला तक अपनी पहुंच सुनिश्चित की, बल्कि उसे परिजनों के साथ खाट में उठाकर निकटवर्ती अस्पताल भी पहुंचाया. जहां सुरक्षित प्रसव कराया गया. फिलहाल जच्चा और बच्चा पुरी तरह सुरक्षित हैं. पीड़ित महिला के परिजनों ने इस मदद के लिए डायल 112 के जवान की प्रशंसा की है.

दरअसल, पसान डायल 112 टीम को बीती रात इवेंट मिला था कि धुर वनांचल पुटीपखना सुखाबहरा में एक महिला अनीता बाई उईके प्रसव पीड़ा से कराह रही है. उसे जल्द ही उपचार की जरूरत है. इवेंट मिलते ही आरक्षक लालचंद पटेल व चालक विनय पाल की टीम मौके के लिए रवाना हो गई. इसी दौरान स्थल के करीब दो किलोमीटर पहले उनका वाहन खराब रास्ते मे फंस गया और आगे नहीं बढ़ सका. मामले की गंभीरता को देखते हुए आरक्षक लालचंद पटेल और चालक पैदल ही जंगल के रास्ते गांव के लिए रवाना हो गए.

उन्होंने देखा कि अनीता प्रसव पीड़ा से कराह रही है और उसकी हालत लगातार बिगड़ रही है. जिसके बाद टीम ने बिना वक़्त गंवाए महिला को एक खाट पर लिटाया और टॉर्च की रोशनी में फिर कड़ी मशक्कत के साथ खराब रास्तों से दो किलोमीटर दूर उसे वाहन तक लेकर आया. 112 की टीम अनिता को लेकर फौरन पसान के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाकर उसे दाखिल कराया. फिलहाल अनीता और उसका बच्चा स्वस्थ है. इस तरह डायल 112 की टीम ने न सिर्फ महिला की जान बचाई बल्कि अपनी उपयोगिता भी साबित की. अनीता के परिजनों ने आरक्षक लालचंद व चालक विनय पाल का आभार व्यक्त किया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन