• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • प्रदेश में हर हाल में आज धान तौल की करनी होगी ऑनलाइन एंट्री

प्रदेश में हर हाल में आज धान तौल की करनी होगी ऑनलाइन एंट्री

Demo Pic.

Demo Pic.

31 जनवरी की रात 12 बजे बजे छत्तीसगढ़ में धान खरीदी के लिए जारी सॉफ्टवेयर लॉक हो जाएगा. लॉक होने के बाद किसी भी सूरत में ओपन नहीं किया जाएगा.

  • Share this:
31 जनवरी की रात 12 बजे बजे छत्तीसगढ़ में धान खरीदी के लिए जारी सॉफ्टवेयर लॉक हो जाएगा. लॉक होने के बाद किसी भी सूरत में ओपन नहीं किया जाएगा. उपार्जन केंद्रों में 31 जनवरी को धान को तौलकर हर हाल में एंट्री करनी होगी. समर्थन मूल्य 2500 रुपये प्रति क्विंटल की घोषणा भले ही नवगठित सरकार ने कर दिया है, लेकिन अब भी पुराने दर 1750 रुपये प्रति क्विंटल भुगतान किया जा रहा है. शेष राशि भुगतान करने में समस्या न हो, इस आशय से सॉफ्टवेयर के प्रति संवेदनशीलता जताई जा रही है.

प्रशासन ने सभी केंद्रों के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिया है. एक फरवरी को खरीदी वर्ष 2019 में खरीदे धान की रिपोर्ट नोडल अधिकारी जिला कार्यालय में प्रस्तुत करेंगे. यही वजह है कि प्रशासन ने धान बिक्री के लिए 30 जनवरी को टोकन कटाने वाले किसानों के ही धान खरीदने का निर्णय लिया है. नवगठित सरकार ने एक ओर धान कीमत में बढ़ोतरी कर किसानों के प्रति उदारता दिखाई है. वहीं खरीदी कार्य के प्रति सजगता के साथ अधिकारिक वर्ग में शिकंजा कस दिया है.

धान खरीदी के अंतिम दिन प्रत्येक नोडल अधिकारी को उपार्जन केंद्र में उपस्थित रहकर तौल में निगरानी रखनी होगी. हर हाल में तौल को सॉफ्टवेयर लॉक होने के पहले पूरा कराना होगा. 30 जनवरी को मिले टोकन के अनुसार तौल यंत्रों की व्यवस्था करनी होगी, ताकि लॉक होने के पहले धान का तौल व एंट्री कर लिया जाए. एक फरवरी को प्रशासन के समक्ष नवंबर से जनवरी माह तक की गई खरीदी की जानकारी देनी होगी.

20 फरवरी तक करना होगा पूर्ण उठाव
मौसम में आई खराबी और बढ़ती खरीदी ने फड़ प्रभारियों के माथे पर चिंता की लकीरें खींच दी हैं. आसमान में बदली का दौर व बारिश की संभावना को देखते हुए भी कई उपार्जन केंद्र में धान सुरक्षा के मुकम्मल उपाय नहीं किए गए हैं. प्रशासन ने विपणन विभाग को 20 फरवरी तक हर हाल में धान उठाव करने का निर्देश दिया है. अभी भी 2.56 लाख क्विंटल उपार्जन केंद्रों में शेष है. वेयर हाउस गोदाम पहले ही चावल से भरे हैं. ऐसे में मिलिंग में कार्य प्रभावित है. मिलिंग नहीं होने से उठाव भी लगभग ठप है. ऐसे में निर्धारित तिथि तक पूर्ण उठाव होने की संभावना बहुत कम बन रही है.

कोरबा के जिला खाद्य अधिकारी एच मसीह ने बताया की धान खरीदी के लिए प्रत्येक उपार्जन केन्द्रों में नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं. 30 जनवरी तक लिए गए टोकन के अनुसार ही 31 जनवरी तक ही धान की खरीदी की जाएगी. रात 12 बजे सॉफ्टवेयर लॉक हो जाएगा. इस आशय से सभी एंट्री समय से पहले करने का निर्देश कलेक्टर ने दिया है.
ये भी पढ़ें: प्रदेश में 21 लाख 411 मीट्रिक टन धान जाम, बारिश के बाद बढ़ी परेशानी 
ये भी पढ़ें:- महिला के खाते में आई PM आवास की पहली किस्त सरपंच ने हड़पी, शोकॉज नोटिस जारी
ये भी पढ़ें:- शिक्षक की मांग को लेकर स्कूली बच्चों ने सरकार के खिलाफ लगाए मुर्दाबाद के नारे 
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज