Home /News /chhattisgarh /

SECL में नौकरी लगाने बाप-बेटे ने ठगे 30 लाख रुपये, अब पैसों के लिए चक्कर लगा रहे बेरोजगार

SECL में नौकरी लगाने बाप-बेटे ने ठगे 30 लाख रुपये, अब पैसों के लिए चक्कर लगा रहे बेरोजगार

छत्तीसगढ़ के कोरबा में पुलिस ने ठगी का मामला दर्ज किया है.

छत्तीसगढ़ के कोरबा में पुलिस ने ठगी का मामला दर्ज किया है.

Korba News: छत्तीसगढ़ के कोरबा में बेरोजगारों से नौकरी लगाने के नाम पर ठगी की गई है. 6 बेरोजगारों से पिता-पुत्र ने मिलकर करीब 30 लाख रुपयों की ठगी की है. 7 साल पहले आरोपियों ने बेरोजगारों को एसईसीएल में नौकरी लगाने का झांसा दिया था. अपनी ऊंची पुहंच का हवाला देते हुए आरोपियों ने नौकरी लगाने का वादा किया और 30 लाख रुपये ले लिए. मामले में कोरबा एसपी से शिकायत के बाद अब जांच शुरू कर दी गई है.

अधिक पढ़ें ...

कोरबा. छत्तीसगढ़ के कोरबा में 6  बेरोजगार युवकों से पिता- पुत्र ने नौकरी दिलाने के नाम 30 लाख रुपए की ठगी कर ली है. बांकीमोंगरा क्षेत्र में रहने वाले 6  बेरोजगार युवकों से एसईसीएल में नौकरी दिलाने के नाम पर करीब 30  लाख रुपये की ठगी करने की शिकायत थाने में दर्ज कराई गई है. बताया जा रहा है कि सात साल पहले यहां रहने वाले पिता पुत्र ने रोजगार का सपना दिखा कर उनके अभिभावकों से पैसा लिए थे. इस मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक से की गई है. बांकीमोंगरा में रहने वाले बृज साहू व उसका पुत्र पुष्पेंद्र साहू पर नौकरी लगाने के लिए पैसे लेने का आरोप है.

पुलिस से की गई शिकायत के मुताबिक सात साल पहले बांकीमोंगरा व आसपास के क्षेत्र में रहने वाले 6  लोगों से पांच पांच लाख रुपये पिता- पुत्र लिए. उन्होंने युवकों को एसईसीएल में नौकरी लगाने का भरोसा दिलाया. अपनी उंची पहुंच होने का हवाला देते हुए आरोपी रुपये लिए थे, पर नौकरी नहीं लगी और न ही पैसे वापस किए. युवक जब कभी भी नौकरी के लिए पूछने जाते, तो कोई न कोई नया बहाना बना कर वापस लौटा देते थे. पिछले दिनों सभी ने मिल कर पिता- पुत्र पर पैसा वापस लौटाने के लिए दबाव बनाया. नहीं देने पर थाने में शिकायत करने की चेतावनी दी.

कुछ पैसे लौटाए
शिकायत के मुताबिक पुलिस में मामला दर्ज करने की चेतावनी पर आरोपी पिता-पुत्र ने सभी 6 युवकों को कुछ रुपये करीबन डेढ़  लाख रुपये वापस किए. बचे पैसे लौटाने के लिए मोहलत मांगी. लेकिन निर्धारित समय में पैसा नहीं लौटाए. इससे परेशान होकर सभी पीड़ित बांकीमोंगरा थाना पहुंचे, पर यहां से उन्हें बैरंग वापस लौटा दिया गया. इसके बाद पीड़ित पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे और एसपी भोजराम पटेल से मुलाकात कर अपनी व्यथा बताए. एसपी ने तत्काल बांकीमोंगरा थाना प्रभारी राजेश जांगड़े को इस मामले में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना करने के निर्देश दिए हैं.

Tags: Fraud case, Korba news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर