Home /News /chhattisgarh /

Interesting: पति को बचाने भालुओं से भिड़ गई महिला, जानिए किन हालातों में हुआ हमला

Interesting: पति को बचाने भालुओं से भिड़ गई महिला, जानिए किन हालातों में हुआ हमला

छत्तीसगढ़ के कोरबा में एक महिला पति की जान बचाने भालुओं से भिड़ गई. महिला का अस्पताल में इलाज जारी है.

छत्तीसगढ़ के कोरबा में एक महिला पति की जान बचाने भालुओं से भिड़ गई. महिला का अस्पताल में इलाज जारी है.

Interesting Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ के कोरबा में एक महिला के पति पर भालुओं ने हमला कर दिया. इस हमले से महिला डरी नहीं, बल्कि भालुओं से भिड़ गई. उसने भालुओं से मुकाबला कर पति की जान बचा लगी. महिला की हालत गंभीर है. उसका इलाज अस्पताल में चल रहा है.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    कोरबा. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कोरबा (Korba) से अजीबो-गरीब खबर है. यहां पति को बचाने के लिए पत्नी भालू से भिड़ गई. घटना कोरबा वन मंडल के लेमरू रंज के गांव अलगीडोंगरी की है. महिला का अस्पताल में उपचार जारी है. ईतवारी बाई की बकरियां जंगल में चरने गई थीं, लेकिन वापस नहीं लौटीं.

    ईतवारी बाई इन्हें ढूंढने पति पवित्तर सिंह के साथ बीती शाम जंगल चली गईं. इस दौरान झाड़ियों से निकलकर दो भालुओं ने पवित्तर सिंह पर हमला कर दिया. पति की जान संकट में देख ईतवारी बाई भालुओं से भिड़ गई और अपने पति की जान बचा ली. हालांकि भालुओं के हमले में वह बुरी तरह से जख्मी हो गई.

    नहीं मिली कोई सहायता- बेटी

    उन्हें बुरी स्थिति में देख लोगों ने संजीवनी 108 एक्सप्रेस बुलाकर अस्पताल भेजा. ईतवारी बाई की बेटी ने बताया कि  उन्हें वन विभाग से किसी तरह की आर्थिक मदद नहीं मिली है. घटना के कई घंटो बाद भी मदद मुहैया न होने से परेशानी बढ़ गई.

    मेंढक की शादी में 1000 लोगों को दावत

    उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ से रोमांचक और अजीबो-गरीब खबरें लगातार सामने आ रही हैं. इसी तरह की अजीबो-गरीब खबर रायगढ़ जिले से भी है. जिल में हुई एक शादी की चर्चा क्षेत्र में खूब हो रही है. यहां शादी किसी इंसान की नहीं, बल्कि मेंढक (Frog) और मेंढकी की कराई गई है और वो भी हिंदू परंपरा (Hindu Tradition) की रीति-रिवाज के साथ. रायगढ़ के लैलूंगा में बीते 11 सितंबर को मेंढक-मेंढकी का ब्याह (Frog Wedding) कार्यक्रम संपन्न हुआ. इस ब्याह में वर-वधु पक्ष के 1000 से अधिक लोग शामिल हुए. शादी के जश्न में लोगों ने नाच-गाना किया और दावत भी हुई. मंत्रोचार के साथ पंडित ने ब्याह कार्यक्रम संपन्न कराया. धूमधाम से हुए इस अनोखे ब्याह की चर्चा पूरे इलाके में हो रही है.

    दरअसल छत्तीसगढ़ के ग्रामीण इलाकों में एक मान्यता है कि यदि मेंढक व मेंढकी की शादी कराई जाए तो इलाके में अच्छी बारिश होती है. इस मान्यता के तहत रायगढ़ जिले के लैलूंगा ब्लॉक के एक छोटे से गांव बेस्कीमुडा में एक मेंढक (नर) और मेंढकी (मादा) की पूरे रीति रिवाज से बीते शनिवार को शादी कराई गई. हिंदू परंपरा में जैसे इंसानों की शादी होती है, उन्हीं रस्मों के साथ पूरे धूमधाम से शादी का कार्यक्रम संपन्न कराया गया. इस शादी की दावत में आमंत्रण के लिए बकायदा कार्ड भी छपवाए गए थे.

    Tags: Amazing story, Interesting story

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर