Home /News /chhattisgarh /

रायपुर के बाद अब कोरबा में पीलिया ने पैर पसारे, एक मौत

रायपुर के बाद अब कोरबा में पीलिया ने पैर पसारे, एक मौत

पीलिया से एक मौत के बाद पीड़ितों के ब्लड सैंपल लेते स्वास्थ्यकर्मी

पीलिया से एक मौत के बाद पीड़ितों के ब्लड सैंपल लेते स्वास्थ्यकर्मी

राजधानी रायपुर में पीलिया के कहर के बाद अब कोरबा में भी इस जलजनित बीमारी ने पैर पसारना शुरू कर दिया है. गंदे पानी की वजह से निगम क्षेत्र के शहर के कई इलाकों में यह बीमारी तेजी से फैल रही है. पीलिया की वजह से ही कुसमुंडा निवासी राजकुमार अग्रवाल की मौत हो गई.

अधिक पढ़ें ...
    राजधानी रायपुर में पीलिया के कहर के बाद अब कोरबा में भी  इस बीमारी ने पैर पसारना शुरू कर दिया है. गंदे पानी की वजह से निगम क्षेत्र के शहर के कई इलाकों में यह बीमारी तेजी से फैल रही है. लक्ष्मणबन तालाब क्षेत्र में लोग इससे ग्रसित हैं. सबसे ज्यादा खराब स्थिति दर्री रोड के पंजाबी चाल की है. यहां रहने वाले ज्यादातर लोग बीमार हैं. पीलिया की वजह से ही कुसमुंडा निवासी राजकुमार अग्रवाल की मौत हो गई. स्वास्थ्य अमला शिविर लगाकर पीड़ित लोगों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है.

    क्षेत्रीय पार्षद रवि चंदेल की माने तो निगम अधिकारी आर महेश्वरी की लापरवाही की वजह से क्षेत्र में पीलिया फैल रहा है. उनके मुताबिक नगर निगम की पानी सप्लाई वाले पाइप लाइन में जगह जगह लिकेज होने की वजह से दूषित पानी लोगों के घरों तक पहुंच रहा है. जिसके सेवन से पीलिया की बीमारी फैल रही है. कोरबा में नगर पालिक निगम के वार्ड नंबर एक और दो में रहने वाले लोग पीलिया से ज्यादा ग्रसित है.

    इलेक्ट्रिकल सामान की दुकान का संचालन करने वाले राजकुमार अग्रवाल को करीब तीन दिन पहले उपचार के लिए कोसाबाड़ी स्थित निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. देखते ही देखते उनकी हालत बिगड़ गई और किडनी और लंग्स पर गहरा प्रभाव पड़ा. इसकी वजह से कोमा की अवस्था में राजकुमार आ गए और उन्हें अस्पताल के आइसीयू यूनिट में दाखिल करना पड़ा. चिकित्सकों के अथक प्रयास के बाद भी उनकी जान नहीं बचाई जा सकी. राजकुमार की मौत के बाद जिले का स्वास्थ हमला हरकत में आया और आनन-फानन में उन क्षेत्रों में जहां पीलिया अपना पैर पसार रहा है शिविर लगाया. शिविर नें काफी लोग पीलिया से ग्रसित मिले.

    ( अब्दुल असलम की रिपोर्ट )

     

    Tags: Korba news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर