• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • कोरबा: पति की हत्या कर लाश खाई में फेंका, दो साल बाद खुला राज, आरोपी मां-बेटा गिरफ्तार

कोरबा: पति की हत्या कर लाश खाई में फेंका, दो साल बाद खुला राज, आरोपी मां-बेटा गिरफ्तार

पुलिस के मुताबिक आरोपी महिला सुशीला और उसके नाबालिग बेटे ने मिलकर उसके दूसरे पति विमल उर्फ सूर्या की गला दबाकर हत्या कर दी थी (फाइल फोटो)

पुलिस के मुताबिक आरोपी महिला सुशीला और उसके नाबालिग बेटे ने मिलकर उसके दूसरे पति विमल उर्फ सूर्या की गला दबाकर हत्या कर दी थी (फाइल फोटो)

Chhattisgarh News: चश्मदीद के मुताबिक जिस कार में लाश को रख कर उसे ठिकाने लगाया गया, उसके ड्राइवर ने पुलिस के सामने यह राज खोल दिया. उसने कहा कि पिकनिक जाने के लिए सामान लोड करने का झांसा देकर धोखे से लाश को गाड़ी में रख दिया गया था. मौके पर पहुंचने के बाद उसे इसकी भनक लगी, लेकिन जान से मारने की धमकी दिए जाने से उसने अब तक अपना मुंह बंद रखा था

  • Share this:
कोरबा. छत्तीसगढ़ के कोरबा (Korba) में एक व्यक्ति की दो साल पहले हुई हत्या का राज खुल गया है. पुलिस ने मृतक की पत्नी को गिरफ्तार कर इस अंधे कत्ल (Blind Murder) का खुलासा करने का दावा किया है. पुलिस के मुताबिक चार बच्चों की मां ने दूसरी शादी रचाई थी और बाद में उसने अपने पति की गला दबाकर हत्या कर दी थी. बाद में महिला ने अपने नाबालिग बेटे की मदद से लाश को ठिकाने लगा दी थी. वारदात के छह महीने बाद महिला ने रामपुर पुलिस चौकी में अपने पति की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवा दी थी. मगर इसके एक साल बाद एक चश्मदीद ने पुलिस के सामने आकर इस हत्या पर से पर्दा उठा दिया है.

पुलिस अधीक्षक (एसपी) भोजराम पटेल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस ब्लाइंड मर्डर केस का खुलासा करते हुए कहा कि 21 मई को सुशीला निषाद ने रामपुर चौकी आकर रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उसका पति विमल उर्फ सूर्या वाल्मिकी आठ नवंबर, 2019 की रात से घर से बिना बताये कहीं चला गया है. पुलिस ने गुमशुदगी का प्रकरण दर्ज कर उसकी तलाश शुरू की. इस बीच 24 जुलाई को ललित कुमार घोसले नाम के व्यक्ति ने चौकी में आकर बताया कि वो पूर्व में कार चलाता था. आठ नवंबर, 2019 की रात में सुशीला निषाद के नाबालिग बेटे ने उसे फोन कर कहा कि अगले दिन सुबह कॉफी पॉइंट पिकनिक मनाने जाना है. इसलिए वो नौ नवंबर, 2019 की सुबह कार लेकर पथर्रीपारा स्थित उनके मकान गया.

चश्मदीद के मुताबिक जिस कार में लाश को रख कर उसे ठिकाने लगाया गया, उसके ड्राइवर ने पुलिस के सामने यह राज खोल दिया. उसने कहा कि पिकनिक जाने के लिए सामान लोड करने का झांसा देकर धोखे से लाश को गाड़ी में रख दिया गया था. मौके पर पहुंचने के बाद उसे इसकी भनक लगी, लेकिन जान से मारने की धमकी दिए जाने से उसने अब तक अपना मुंह बंद रखा था.

चश्मदीद चालक के खुलासे के बाद महिला ने कबूला अपना जुर्म

पुलिस ने सुशीला निषाद और उसके नाबालिग बेटे को तलब कर कड़ी पूछताछ की तो उन्होंने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया. इसके बाद पुलिस आरोपियों को लेकर कॉफी पॉइंट पहुंची, यहां डेढ़ सौ फुट नीचे खाई में उतर कर खोजबीन करने पर मानव कंकाल के अवशेष मिले, विमल उर्फ सूर्या का अधजला एन्ट्री पास, लोहे का कड़ा, पर्स और बेल्ट क्षतिग्रस्त हालत में बरामद हुआ. मृतक के भाई और उसकी मां ने इन समानों के विमल के होने की तस्दीक की.

पूछताछ में आरोपी सुशीला निषाद ने पुलिस को बताया गया कि उसने सूर्या के साथ वर्ष 2018  में नोटरी के समक्ष (सामने) शादी की थी. सुशील के उसकी पहली शादी से चार बच्चे हैं. सूर्या अक्सर शराब पीकर उससे झगड़ा और मारपीट करता था जिससे वो काफी परेशान रहती थी. आठ नवंबर, 2019 को भी सूर्या शराब पीकर घर आया था और उसने झगड़ा किया था. जब उसके नाबालिग बेटे ने बीच-बचाव किया तो सूर्या ने उसे मारने के लिए हाथ उठाया तो उसने उसका हाथ पकड़ लिया. इसके बाद सुशीला ने सूर्या का गला दबा दिया जिससे उसकी मौत हो गई.

पुलिस ने आरोपी मां-बेटे को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया है. एसपी भोजराम पटेल ने इस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने वाली पुलिस टीम को पांच हजार रूपया इनाम देने की घोषणा की है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज