Home /News /chhattisgarh /

कोरबा: सरकारी जमीन पर दलाल कर रहे हैं कब्जा

कोरबा: सरकारी जमीन पर दलाल कर रहे हैं कब्जा

संसदीय सचिव लखनलाल देवांगन.

संसदीय सचिव लखनलाल देवांगन.

छत्तीसगढ़ के कोरबा में शासकीय भूमि पर अतिक्रमण करने वालों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है.

छत्तीसगढ़ के कोरबा में शासकीय भूमि पर अतिक्रमण करने वालों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. खासकर जमीन दलालों की नजर खाली पड़ी जमीन पर पड़ते ही रातों-रात उस पर कब्जा जमाने हेरफेर शुरू कर दिया जाता है. कुछ ऐसी ही हरकत कोयला के एक बड़े व्यापारी ने की है. इसके द्वारा खाली पड़ी एक बड़ी शासकीय जमीन पर कब्जा कर उसमें दो तल्ला इमारत बना लिया गया है. मामले की शिकायत ससंदीय सचिव लखनलाल देवांगन से की गई है.

संसदीय सचिव लखनलाल ने कोरबा कलेक्टर को पत्र लिखकर तत्काल कब्जा हटाने कहा है. मामलाा ज्योति नगर दीपका का है. शिकायकर्ताओं का आरोप है कि कोयला कारोबारी विशाल अग्रवाल द्वारा खाली पड़ी शासकीय जमीन पर कब्जा कर उसपर दो मंजिला इमारत खड़ी कर ली गयी है. कोयला व्यापारी की हरकत से आसपास के लोग काफी आक्रोशित हैं, उन्होंने इसकी शिकायत संसदीय सचिव से की. इसके बाद संसदीय सचिव ने कलेक्टर को पत्र लिखकर तत्काल इस कब्जे को हटवाने की मांग की है. साथ ही पत्र में उल्लेख किया है कि इस कार्रवाई के संबंध में उन्हें भी अवगत कराया जाए.

पत्र में संसदीय सचिव ने लिखा है कि विशाल अग्रवाल पिता दिनदयाल अग्रवाल जो कि कोयले के बड़े व्यापारी हैं और जिनके द्वारा ज्योति नगर दीपका में शासकीय भूमि खसरा नंबर 572 /1 जो एक बड़े झाड़ के जंगल में दर्ज है, पर बड़ी इमारत खड़ा कर बेजा कब्जा किया गया है. गरीब वर्ग द्वारा आवश्यकतानुसार बेजा कब्जा किया जाना समझ में आता है लेकिन इतने बड़े कोयले के व्यापारी द्वारा बेजा कब्जा करने से गरीब वर्ग में आक्रोश व्याप्त है. ऐसे में शासकीय जमीन को कब्जामुक्त कराने की कार्रवाई की जाए.

इधर मामले में विशाल अग्रवाल ने जो आरोप लगाए हैं, वो भी चौकाने वाले हैं. विशाल ने उल्टा संसदीय सचिव लखनलाल देवांगन पर ही आरोप लगाते हुए कहा है कि संसदीय सचिव ही मुझे अवैध वसूली के लिए उकसाते थे. उन्होंने बताया कि इससे पहले वो लखनलाल देवांगन के ही विधायक प्रतिनिधि हुआ करते थे, लेकिन उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. विशाल ने कहा कि बतौर प्रतिनिधि उसे संसदीय सचिव लगातार अवैध वसूली के लिए कहा करते थे, जिसके चलते उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

Tags: Chhattisgarh news, Korba news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर