सुअर के लिए बिछाए बिजली के तार में फंसा मजदूर, क्वारंटाइन से बचने की कोशिश में गई जान
Korba News in Hindi

सुअर के लिए बिछाए बिजली के तार में फंसा मजदूर, क्वारंटाइन से बचने की कोशिश में गई जान
पुलिस मजदूर की मौत मामले की जांच कर रही है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले (Korba) में यूपी से लौटे प्रवासी मजदूर (Migrant Laborer) के क्वारंटाइन सेंटर में जाने से बचने के लिए खेत के रास्ते घर जाने के दौरान हुआ हादसा.

  • Share this:
कोरबा: छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले (Korba) में सुअर का शिकार करने के लिए बिछाए गए बिजली के तार (Electric Wire) में उलझने से एक प्रवासी मजदूर (Migrant Laborer) की मौत हो गई है. तार की चपेट में एक जंगली सुअर भी आया है. घटना की जानकारी होने पर प्रशासन और पुलिस की टीम मौके पर पहुंची. करंट प्रवाहित तार लगाने वाले की तलाश में टीम जुट गई है. अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया गया है. बताया गया कि यूपी से लौटा मजदूर क्वारंटाइन सेंटर में जाने से बचने के लिए खेत के रास्ते घर लौट रहा था, इसी दौरान यह हादसा हो गया.

उरगा पुलिस थाना क्षेत्र के करतला रेंज के कक्ष क्रमांक 1503 कोरियापारा जंगल में बीते शनिवार की रात यह घटना हुई. इस इलाके में जंगली जानवरों का उत्पात बना हुआ है. आसपास में किसानों ने अपनी फसल लगाई है. फसल को नुकसान से बचाने के लिए कई तरीके अपनाए जा रहे हैं. इसी कड़ी में यहां करंट प्रवाहित तार बिछाया गया था, जिनके संपर्क में आकर सुअर व अन्य जानवर अकाल मौत का शिकार हो जाएं. उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद से कुछ प्रवासी कामगारों की वापसी एक दिन पहले हुई. उन्हें मालूम था कि सूचना दिए जाने पर प्रशासन निश्चित रूप से 14 दिन या अधिक के लिए उन्हें क्वारंटाइन सेंटर भेज देगा. इस समूह में कई लोग शामिल थे.

ये भी पढ़ें: दिल्‍ली के किस निजी अस्‍पताल में कितने हैं रियायती COVID-19 बेड? यहां देखें पूरी लिस्‍ट



चोरी-छिपे गांव पहुंचने की कोशिश
बताया जा रहा है कि ये सभी चोरी-छिपे जंगल के रास्ते से अपने गांव पहुंचने की कोशिश में थे. जंगल के रास्ते से आवाजाही के दौरान 30 वर्षीय दिलहरण अपनी मां, पत्नी और बच्चे के साथ गांव जा रहा था. सबसे आगे दिलहरण था, जिसका पैर रात के अंधेरे में करंट प्रवाहित तार पर जा पड़ा. वह मौके पर छटपटाने के साथ गिर पड़ा. यह समझते उसके परिजनों को देर नहीं लगी कि मामला क्या है. उन्होंने सतर्कता बरतते हुए खुद को मौके पर रोका. हैरत की बात यह रही कि इस समूह में शामिल अन्य प्रवासी कामगारों ने यह जानकारी होने पर खुद को यहां से अलग कर लिया और दूसरे रास्ते से वापस हो गए. कई घंटे बाद यह खबर मृतक के परिजनों ने लोगों को दी.

पुलिस ने शुरू की जांच

इसके बाद उरगा के टीआई अभय सिंह बैस, डीएफओ गुरुनाथन एन, करतला रेंजर शहादत खान सहित कर्मी यहां पहुंचे. उन्होंने पाया कि घटना स्थल पर युवक के अलावा एक सुअर भी मृत स्थिति में पड़ा है. माना गया कि पूरी घटना दरअसल जंगली जानवर को फांसने के चक्कर में हुई है. इसके कारण इंसान भी मृत हो गया. पुलिस ने पंचनामा के बाद दिलहरण का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. इसके साथ ही यहां पर बिजली तार बिछाने वाले की तलाश शुरू कर दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading