होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /

आरक्षक से बीच बाजार बदमाशों ने की मारपीट, अब केस दर्ज कराने अपनी ही चौकी के चक्कर काट रहा पुलिसवाला

आरक्षक से बीच बाजार बदमाशों ने की मारपीट, अब केस दर्ज कराने अपनी ही चौकी के चक्कर काट रहा पुलिसवाला

छत्तीसगढ़ पुलिस के आरक्षक के साथ कोरबा में मारपीट की गई है.

छत्तीसगढ़ पुलिस के आरक्षक के साथ कोरबा में मारपीट की गई है.

Korba News: छत्तीसगढ़ के कोरबा में एक पुलिस आरक्षक से चार बदमाशों ने बीच बाजार मारपीट कर दी. इस बात की शिकायत आरक्षक ने डायल 112 पर किया. मौके पर पहुंची पेट्रोलिंग की टीम ने आरोपी 4 युवकों को पकड़कर पुलिस चौकी ले आई. बताया जा रहा है कि युवक नशे की हालत में थे. इसलिए उन्हें वापस जाने कहा गया और सुबह बुलाया गया. युवक सुबह पुलिस चौकी नहीं पहुंचे. अब आरक्षक जहां पदस्थ है, उसी पुलिस चौकी में केस दर्ज कराने उसे चक्कर लगाने पड़ रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

कोरबा. छत्तीसगढ़ के कोरबा में पुलिस आरक्षक के साथ मारपीट और गाली-गलौज का मामला सामने आया है. शहर के रामपुर चौकी में पदस्थ आरक्षक अनिरुद्ध अपने साथ हुए मारपीट की रिपोर्ट लिखवाने उसी चौकी के चक्कर काट रहा है, जहां वह पदस्थ हैं. आरक्षक का आरोप है कि बीते 9 फरवरी की रात नशे में धुत 4 बदमाशों ने उसकी पिटाई कर दी थी. जब उसने यह बताया कि वह पुलिस का स्टाफ है. तब और भी  गाली गलौच करते हुए उसके साथ बुरी तरह से मारपीट की गई. अब इस घटना की रिपोर्ट लिखवाने के लिए वह अपनी ही चौकी के चक्कर लगा रहा.

आरक्षक के मुताबिक घटना का विरोध करने पर आरोपी पक्ष के युवाओं ने मारपीट की घटना के दूसरे दिन एक महिला से आरक्षक के विरुद्ध ही छेड़छाड़ की शिकायत दर्ज करवा दी है. इसके बाद पीड़ित आरक्षक न्याय की गुहार लगा रहा है. पीड़ित आरक्षक अनिरुद्ध केरकेट्टा की मानें तो 9  फरवरी की शाम को ड्यूटी खत्म करने के बाद निहारिका क्षेत्र में वो खरीदारी करने निकला था. इस दौरान उसके बगल से गुजरने वाले बाइक सवार 4 युवाओं ने देखकर चलने की बात कही और अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगे. आरक्षक ने उन्हें मना किया. साथ ही ये भी बताया कि वह रामपुर चौकी में आरक्षक के पद पर पदस्थ है.

बाइक अड़ाकर मारपीट
आरक्षक के मुताबिक युवकों ने आरक्षक के सामने बाइक अड़ा दी और बुरी तरह से मारपीट की. आरक्षक ने डायल 112  को फोन लगाया. बाइक सवार युवकों को चौकी भी लाया गया. जानकारी यह भी है कि मारपीट करने वाले युवक नशे की हालत में थे. इसलिए उन्हें सुबह दस बजे आ आने को कहा गया और छोड़ दिया गया. तब से लेकर अब तक आरक्षक इस मामले में कार्रवाई के लिए एसपी कार्यालय से लेकर रामपुर पुलिस चौकी तक के चक्कर काट रहा है. लेकिन अब तक उसकी शिकायत पर केस दर्ज नहीं किया गया है. हालांकि पुलिस अधिकारी मामले की जांच करने की बात कह रहे हैं.

Tags: Crime News, Korba news

अगली ख़बर