कोरबा में दिखी जहरीली बिच्छू की अगाध ममता, आप भी देखें यह दुर्लभ वीडियो

कोरबा की एक दुकान में दिखी यह बिच्छू, जिसकी पीठ पर सवार हैं कई छोटे बिच्छू.

इस नजारे को देखने के लिए उस दुकान के पास मजमा जुट गया. बस लोग यह देखना चाहते थे कि बिच्छू क्या करती है, कहां जाती है. लेकिन काफी देर के इंतजार के बाद भी बिच्छू अपनी जगह से नहीं हिली और उसके बच्चे उसकी पीठ पर हरकत करते रहे.

  • Share this:
कोरबा. जीवों में मनुष्य की श्रेष्ठता की एक बड़ी वजह उसके भीतर का वह मानवीय पक्ष है, जो अन्य जीवों के प्रति भी ममता से भरा है. मनुष्य वही है जिसके लिए हर जीव का जीवन महत्वपूर्ण है. वह मातृत्व को सबसे ऊंचे स्थान पर प्रतिष्ठित करता है. आज कोरबा के लोगों ने मनुष्यता की इस ऊंचाई का प्रमाण भी दिया.

बिच्छू की पीठ पर थे कई छोटे बिच्छू

दरअसल, कोरबा के रिसदी इलाके में गोपाल राठौर की दुकान में रविवार को काली और काफी बड़ी मादा बिच्छू दिखी. दुकानदार गोपाल राठौर और आसपास के लोग उसके डर से उसे मारने ही जा रहे थे कि उनकी निगाह उस मादा बिच्छू की पीठ पर पड़ी. मादा बिच्छू की पीठ पर दर्जन से अधिक बिच्छू के बच्चे चिपके बैठे थे. काफी देर तक उन्होंने उस बिच्छू पर निगाह रखी कि वह करती क्या है. एक तरह से इस नजारे को देखने के लिए उस दुकान के पास मजमा जुट गया. बस लोग यह देखना चाहते थे कि बिच्छू क्या करती है, कहां जाती है. लेकिन काफी देर के इंतजार के बाद भी बिच्छू अपनी जगह से नहीं हिली और उसके बच्चे उसकी पीठ पर हरकत करते रहे.

लोगों को बिच्छू की ममता दिखी

बिच्छू को देखने के लिए जुटी भीड़ तरह-तरह की बयानबाजी करती रही. एक ने कहा कि यह जितनी काली और भयानक दिख रही है, उससे लगता है कि यह बेहद जहरीली होगी. तभी किसी और ने कहा कि चाहे जितनी भी जहरीली हो फिलहाल तो वह ममता से भरी हुई लग रही है. बस इसी बात पर वहां मौजूद लोगों का दिल पसीज गया और उन्होंने उस बिच्छू को न मारने का फैसला किया.





रेस्क्यू कर जंगल में छोड़ी गई मादा बिच्छू

इसके बाद उन्होंने स्नेक रेस्क्यू टीम के प्रमुख जितेंद्र सारथी को इसकी सूचना दी. जितेंद्र मौके पर पहुंचे और मां के साथ बच्चों को बड़े आराम से रेस्क्यू कर डिब्बे में रख लिया और उन्हें सुरक्षित जंगल में छोड़ दिया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.