• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • टीवी सीरियल 'निमकी मुखिया' के एक्टर की 23 सितंबर को कोर्ट में पेशी, 'ये रिश्ता क्या कहलाता है' में भी किया है काम

टीवी सीरियल 'निमकी मुखिया' के एक्टर की 23 सितंबर को कोर्ट में पेशी, 'ये रिश्ता क्या कहलाता है' में भी किया है काम

एक्टर वीरेन्द्र पटेल को उनके भाई के साथ गिरफ्तार किया गया था.

एक्टर वीरेन्द्र पटेल को उनके भाई के साथ गिरफ्तार किया गया था.

छत्तीसगढ़ पुलिस (Chhattisgarh Police) से मारपीट के एक मामले में एक्टर (Actor) की कोर्ट में पेशी है. कलाकार चर्चित टीवी सीरियल 'ये रिश्ता क्या कहलाता है' और 'दिल ढूंढता है' में भी काम कर चुका है.

  • Share this:

    कोरबा. बिहार (Bihar) की राजनीति पर केंद्रित टीवी सीरियल ‘निमकी मुखिया’ (TV serial ‘Nimki Mukhiya’) में काम करने वाले एक कलाकार की छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कोरबा (Korba) की अदालत (Court) में आगामी 23 सितंबर को पेशी है. कलाकार चर्चित टीवी सीरियल ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ में भी काम कर चुका है. इसके अलावा वो एक अन्य सीरियल ‘दिल ढूंढता है’ में भी मुख्य किरदार के दोस्त की भूमिका निभा चुका है. कोरबा में पुलिस कर्मियों से थाने में मारपीट के एक मामले में एक्टर की कोर्ट में पेशी है. एक्टर के साथ उसका भाई भी मामले में सहआरोपी है.

    दरअसल कोरबा के कुसमुंडा में रहने वाले टीवी सीरियल के एक्टर वीरेन्द्र पटेल की उनके पड़ोस में रहने वाले विमल अग्रवाल से बीते अगस्त महीने में झड़प हुई थी. कुसमुंडा थाना पुलिस का कहना है कि झड़प के मामले में ही वीरेन्द्र पटेल और उसके भाई धीरेन्द्र पटेल को बीते 18 अगस्त को थाने बुलाया गया था. पुलिस का दावा है कि थाने में दोनों भाइयों ने पुलिस वालों के साथ मारपीट की और अपनी पहुंच का धौंस दिखाया. इसके चलते उनपर मारपीट के अलावा सरकारी काम में बाधा डालने का मामला भी दर्ज किया गया. इसके बाद 21 अगस्त को उनकी गिरफ्तारी की गई और न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया.

    ये भी पढ़ें: टीवी सीरियल ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ का कलाकार भाई समेत गिरफ्तार, जानें- क्या है आरोप?

    झूठे आरोपों में फंसा रही है पुलिस
    टीवी सीरियल के एक्टर वीरेन्द्र पटेल ने न्यूज 18 को बताया कि गिरफ्तारी के 7 दिन बाद उन्हें और भाई को जमानत मिल गई. इसी मामले में अब अगली पेशी 23 सितंबर को होनी है. वीरेन्द्र का कहना है कि उनका मामूली विवाद पड़ोसी से हुआ था, लेकिन पुलिस ने उनपर गलत तरीके से कार्रवाई की. पुलिस से मारपीट का केस दर्ज करने पर सवाल उठाते हुए वीरेन्द्र कहते हैं कि एफआईआर के मुताबिक 18 अगस्त को उन्होंने और उनके भाई ने पुलिस वालों से थाने में मारपीट की है. जबकि हमारी गिरफ्तारी 19 अगस्त की शाम को की गई. इस दौरान मैं कुसमुंडा में ही अपने घर पर था. अब सवाल है कि यदि हमने 24 घंटे पहले ही मारपीट की थी तो गिरफ्तारी उसी दिन क्यों नहीं की गई. इस मामले में हमने आरटीआई से दस्तावेज मांगे हैं. दस्तावेज मिलने के बाद पूरे मामले में खुलासा करेंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज