पति चरित्र पर करता था संदेह, पत्‍नी ने सुपारी देकर करवाई हत्‍या

पति हमेशा पत्‍नी के चरित्र पर संदेह करता था और उससे मारपीट करता था. वह अपने बड़े पुत्र को नाजायज बताकर उसे भी मारता था. इससे दुखी होकर पत्‍नी ने सुपारी देकर पति की हत्‍या करवा दी.

Abdul Aslam | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 7:03 PM IST
पति चरित्र पर करता था संदेह, पत्‍नी ने सुपारी देकर करवाई हत्‍या
हत्‍या के पांचों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में.
Abdul Aslam
Abdul Aslam | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 7:03 PM IST
छत्‍तीसगढ़ में कोरबा जिले के मोरगा चौकी क्षेत्र के ग्राम परला में एक व्‍यक्ति हत्‍या के मामले में पुलिस ने उसकी पत्‍नी, बेटे और तीन अन्‍य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

परला निवासी 40 वर्षीय रमेश कुजूर गत गुरुवार की देर रात बांझीआमा जंगल में लोहे के पाइप से हमला कर हत्या कर दी गई थी. घटना की रात रमेश के घर बाइक में तीन नाकाबपोश पहुंचे थे. उनके बुलाने पर वह घर से घुंचापुर जाने की बात कहकर निकला था. सुबह उसका शव जंगल में मिला था.

पुलिस ने जांच की तो रमेश की किसी से रंजिश नहीं होने की बात पता चली, लेकिन पत्नी अलमा एक्का पर चरित्र संदेह करते हुए अक्सर विवाद होने की जानकारी पुलिस को मिली. इसके आधार पर पुलिस ने रमेश की पत्नी और बच्चों से पूछताछ शुरू की. एलमा का बयान गोलमोल मिलने पर उससे कड़ाई से पूछताछ की गई. इसके बाद उसने अपने 19 वर्षीय बेटे दीपक के साथ मिलकर तीन लोगों को 50 हजार रुपए सुपारी देकर रमेश की हत्या कराना स्वीकार कर लिया.

पुलिस ने आरोपी मां-बेटे को हिरासत में लेकर अन्य तीनों लोगों की खोजबीन शुरू की और सुपारी लेकर हत्या करने वाले राम पटेल, शिवा और महेन्द्र पटेल को गिरफ्तार कर लिया. आरोपियों से वारदात में उपयोग की गई बाइक भी बरामद कर ली गई. सुपारी लेकर हत्या करने वाले तीनों लोग दूसरे गांव के हैं, जो योजना बनाकर आधी रात को रमेश के घर पहुंचे. उसे एक स्थान पर हनुमान छाप सिक्का होने की बात कह कर उसे खोजने के बहाने जंगल की ओर ले गए. आरोपियों ने लोहे का पाइप भी उसके ही घर से उठाया था. जंगल में पहुंचने पर एक आरोपी ने पीछे से हमला कर उसकी हत्या कर दी.

पुलिस को दिए बयान में आरोपी पत्नी अलमा ने बताया कि पति रमेश उसके चरित्र पर संदेह करता था और हमेशा उससे मारपीट करता था. बड़े पुत्र दीपक की शक्‍ल अपने से नहीं मिलने की बात कहते हुए वह उसे नाजायज कहता था. दीपक के 19 साल का हो जाने के बाद भी उसकी पिटाई करता था. इसी कारण उसने रमेश की हत्‍या करवा दी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर