Home /News /chhattisgarh /

बालको प्लांट में मजदूर की मौत, मुआवजे की मांग को लेकर प्रदर्शन

बालको प्लांट में मजदूर की मौत, मुआवजे की मांग को लेकर प्रदर्शन

कोरबा के बालको प्लांट के पॉट रूम-3 में काम के दौरान अचानक एक ठेका कर्मी बेहोश होकर गिर पड़ा.

कोरबा के बालको प्लांट के पॉट रूम-3 में काम के दौरान अचानक एक ठेका कर्मी बेहोश होकर गिर पड़ा.

कोरबा के बालको प्लांट के पॉट रूम-3 में काम के दौरान अचानक एक ठेका कर्मी बेहोश होकर गिर पड़ा.

    कोरबा के बालको प्लांट के पॉट रूम-3 में काम के दौरान अचानक एक ठेका कर्मी बेहोश होकर गिर पड़ा.

    आनन-फानन में उसे बालको अस्पताल लाया गया. जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. संयंत्र में मजदूर की संदिग्ध मौत के बाद मुआवजा की मांग को लेकर श्रमिक नेताओं व सहकर्मियों द्वारा बालको अस्पताल के बाहर प्रदर्शन किया.

    ठेका कंपनी व प्रबंधन की ओर से मुआवजा नहीं मिलने पर श्रमिक संगठनों ने 10 लाख रुपए परिजनों को सहायता राशि उपलब्ध कराई है. बताया जाता है कि बालको थाना अंतर्गत बेलगरी बस्ती में निवासरत संतोष कश्यप पिता हेचरण कश्यप 35 वर्ष कार्गो ठेका कंपनी में बतौर ठेका कर्मचारी नियोजित था. कार्गो ठेका कंपनी का कार्य बालको संयंत्र के पॉट रूम-3 में चल रहा है.

    जिसमें आज सुबह 6 बजे प्रथम पाली में ड्यूटी के लिए संतोष कश्यप गया हुआ था. काम के दौरान अचानक संतोष कश्यप गश खाकर गिर पड़ा. जब तक उसे अस्पताल लाया जाता उसने दम तोड़ दिया था. अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टरों ने मौत की पुष्टि कर दी. श्रमिक की मौत का कारण हार्ट अटैक बताया जा रहा है.

    लेकिन श्रमिक संगठनों व श्रमिकों का कहना था कि संतोष कश्यप एकदम स्वस्थ था. मामले की जांच व मृतक के परिवार को 10 लाख रुपए मुआवजा दिलाए जाने की मांग को लेकर श्रमिक संगठनों व मजदूरों ने बालको अस्पताल के बाहर प्रदर्शन शुरू कर दिया.

    माहौल बिगड़ता देख बालको पुलिस भी मौके पर पहुंच गई थी. ठेका कंपनी व बालको प्रबंधन द्वारा 10 लाख रुपए मुआवजा नहीं दिए जाने पर श्रमिक संगठनों ने आगे आकर मृतक परिवार की सहायता के लिए सहायता राशि इकठ्ठा की.

    मृतक के परिजनों को 10 लाख रुपए की सहायता राशि उपलब्ध कराई गई. फिलहाल संयंत्र में काम के दौरान श्रमिक की संदिग्ध मौत जांच का विषय है. जिसे सहकर्मी स्वस्थ बता रहे हैं, उसे अचानक दिल का दौरा कैसे पड़ सकता है यह बात श्रमिकों व मजदूर संगठनों के गले नहीं उतर पा रही है. फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

    शुरू की नई परंपरा
    बालको यूनियन ने नई परंपरा शुरू की है. अगर संयंत्र में कोई मजदूर हादसे का शिकार होता है, हादसे में श्रमिक की मौत होती है तो इस दशा में यूनियन मृत मजदूर के परिजनों को चंदा करके 10 लाख रुपए की सहायता राशि देगी. बालको प्रबंधन के पास फरियाद करने की जरूरत नहीं पड़ेगी. मृत मजदूर संतोष कश्यप की मौत के बाद श्रमिक संगठनों ने नई पहल शुरू की है.

    Tags: Chhattisgarh news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर