टिकट नहीं मिलने से नाराज भाजपा नेता लखन श्रीवास्तव मनेंद्रगढ़ से लड़ेंगे निर्दलीय

भाभाजपा के बागी नेता लखन श्रीवास्तव की प्रेस कॉन्फ्रेंस

भाभाजपा के बागी नेता लखन श्रीवास्तव की प्रेस कॉन्फ्रेंस

लखन लाल ने टिकट नहीं मिलने के बाद कांग्रेस नेताओं से भी मुलाकात की थी, जिसके बाद उनके कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें भी लगाई जा रही थी. इसके बाद उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सभी अटकलों को विराम दे दिया है और भाजपा-कांग्रेस के सामने निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के दौरान टिकट बंटवारे के बाद रूठने और मनाने का दौर चल रहा है. कोरिया जिले की मनेंद्रगढ़ विधानसभा सीट पर भाजपा की कलह सामने आई है. यहां से भाजपा के बागी नेता लखन श्रीवास्तव ने निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है. लखन श्रीवास्तव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात की जानकारी दी.



बागी नेता लखन श्रीवास्तव ने भाजपा प्रत्याशी श्यामबिहारी जायसवाल पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि निर्दलीय चुनाव न लड़ने पर एक करोड़ रुपए देने का प्रस्ताव दिया है. श्रीवास्तव ने पार्टी पर भी पैसे देने वालों को टिकट देने का आरोप लगाते हुए कहा कि जो पार्टी में पैसे देता है, उसे ही टिकट दिया जाता है. श्रीवास्तव के आरोपों का भाजपा प्रत्याशी श्यामबिहारी ने खंडन किया है.



मनेंद्रगढ़ विधानसभा क्षेत्र में 'पानी वाले बाबा' के नाम से मशहूर लखनलाल श्रीवास्‍तव पानी की किल्लत वाले क्षेत्रो में कई वर्षों से टैंकर से नि:शुल्क पानी वितरण करवा रहे थे. इसी वजह से वे मनेंद्रगढ़ के साथ चिरमिरी क्षेत्र में भी काफी लोकप्रिय हो चुके हैं.





इससे पहले के चुनावों में भी वे वे टिकट के प्रबल दावेदार थे. 2013 में भी लखन लाल को टिकट नहीं मिला तो उन्हें 2018 में टिकट मिलने की पूरी उम्मीद थी. पार्टी ने इस बार भी वर्तमान एमएलए श्यामबिहारी को टिकट दे दिया, जिसके बाद लखन व उनके समर्थकों में खासी नाराजगी दिख रही है.
लखन लाल ने टिकट नहीं मिलने के बाद कांग्रेस नेताओं से भी मुलाकात की थी, जिसके बाद उनके कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें भी लगाई जा रही थींं. इसके बाद उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सभी अटकलों को विराम दे दिया है और भाजपा-कांग्रेस के सामने निर्दलीय चुनाव लड़ने का एलान कर दिया है.



भाजपा के बागी नेता लखनलाल के आरोपों का खंडन करते हुए भाजपा के प्रत्याशी श्यामबिहारी ने कहा कि सुर्खियों में बने रहने के लिए उन्होंने यह तरीका अपनाया है. उन्होंने कहा कि लखन लाल के आरोपों में कुछ भी सच नहीं है. उन्होंने कहा कि उन्होंने एक करोड़ रुपया जीवन में एक मुश्त नहीं देखा. बिहारी ने लखन को चुनौती देते हुए कहा कि उनके आरोपों में सच्चाई है तो साबित भी करें. पार्टी ने उन्हें उनकी कार्य क्षमता को देखते हुए फिर से टिकट दिया है.



यह भी पढ़ें-  मोदी सरकार के आने के बाद माओवादी एक तिहाई जिलों में सिमटे : जावड़ेकर



यह भी पढ़ें-  छत्तीसगढ़ चुनाव: कांग्रेस के 37 प्रत्याशियों का ऐलान, जानें किसे कहां से मिला टिकट?



यह भी देखें-  VIDEO: CM रमन सिंह ने संभाली चुनाव के प्रचार-प्रसार की कमान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज