वार्डन के पति की शर्मनाक हरकत, सफाईकर्मी को नवजात समेत हॉस्टल से बाहर फेंका

Amitesh Pandey | News18 Chhattisgarh
Updated: August 19, 2019, 12:36 PM IST
वार्डन के पति की शर्मनाक हरकत, सफाईकर्मी को नवजात समेत हॉस्टल से बाहर फेंका
हॉस्टल वार्डन के शिक्षक पति की शर्मनाक करतूत, सफाईकर्मी को नवजात के साथ फेंका बाहर

रंगलाल पर आरोप है कि उसने महिला और उसकी दुधमुंही बच्ची को भारी बारिश के बीच हॉस्टल से बाहर कर दिया. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है.

  • Share this:
कोरिया जिले के जनकपुर इलाके से एक बड़ी घटना सामने आई है. जहां जनकपुर के बड़वाही कन्या आश्रम में अधीक्षक स्मिता सिंह के पति रंगलाल ने छात्रावास में रह रही महिला सफाईकर्मी चंद्रकांता को घसीटते हुए छात्रावास से उसके नवजात बच्चे के साथ बाहर फेंक दिया. इतना ही नहीं महिला सफाईकर्मी के पूरे सामान को छात्रावास से बाहर फेंक दिया. रंगलाल पर आरोप है कि उसने महिला और उसकी दुधमुंही बच्ची को भारी बारिश के बीच हॉस्टल से बाहर कर दिया. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. बता दें कि ये घटना 10 अगस्त की है. महिला सफाईकर्मी की शिकायत पर पुलिस केस दर्ज कर मामले की जांच में जुटी है. वहीं केस दर्ज होते ही आरोपी रंगलाल फरार है.

वीडियो वायरल होने के बाद हॉस्टल अधीक्षक और उसका पति निलंबित

बता दें कि वीडियो के वायरल होने के बाद 11 अगस्त को मामला थाने पहुंचा था. पीड़िता की शिकायत पर  आरोपी के खिलाफ धारा 452, 294, 506, 323 के तहत मामला दर्ज किया है. गौरतलब है कि कन्या आश्रम की अधीक्षक स्मिता सिंह का पति रंगलाल प्राथमिक विद्यालय करी माड़ीसरई में पदस्थ है. वहीं न्यूज 18 पर खबर दिखाए जाने के बाद प्रशासनिक हलकों में हडकंप मच गया और आनन-फानन में अधीक्षक और उसके पति को निलंबित कर दिया गया.



गौरतलब है कि खबर दिखाए जाने के बाद ही प्रशासन और पुलिस की टीम कन्या आश्रम मे पहुंच गई है. इस मामले में अब पीड़िता के बयान ने सरकारी हॉस्टल की व्यवस्थाओं पर भी सवाल खड़ा कर दिया है. पीड़ित सफाईकर्मी ने बताया कि आरोपी रंगलाल उसको हॉस्टल से निकल जाने का दबाव बना रहा था. जिसकी सूचना उसने पुलिस को दे दी थी. इसी बात से नाराज होकर उसने उसके साथ मारपीट की और घसीटकर हॉस्टल से बाहर निकाल दिया था.

हॉस्टल अधीक्षक के खिलाफ कांग्रेस विधायक ने की थी शिकायत

ऐसा नहीं है कि बड़वाही कन्या आश्रम में चल रहे असमाजिक और अपराधिक कृत्य की जानकारी पहले जिला प्रशासन के पास नहीं थी. इससे पहले खुद कांग्रेस विधायक और उनके प्रतिनिधी ने आश्रम अधीक्षिका स्मिता सिंह और उसके शिक्षक पति रंगलाल गौड की शिकायत जिला प्रशासन से की थी. लेकिन कार्यवाही होने के बाद भी अधीक्षिका ने स्टे लेकर अपने आप को बचा लिया था.
Loading...



ये भी पढ़ें - जानिए कैसे, छत्तीसगढ़ में कम होगा हाथियों का आंतक...

ये भी पढ़ें - अब अफसरों का Future तय करेगी छत्तीसगढ़ी भाषा, जानें कैसे...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोरिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 12:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...