• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • ओपन कास्ट प्रोजेक्ट से कोयला परिवहन करने वाली माल गाड़ियों से अवैध वसूली

ओपन कास्ट प्रोजेक्ट से कोयला परिवहन करने वाली माल गाड़ियों से अवैध वसूली

ओपन कास्ट प्रोजेक्ट से कोयला परिवहन करने वाली माल गाड़ियों से अवैध वसूली

ओपन कास्ट प्रोजेक्ट से कोयला परिवहन करने वाली माल गाड़ियों से अवैध वसूली

छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में एसईसीएल चिरमिरी के ओपन कास्ट प्रोजेक्ट से कोयला परिवहन करने वाले माल गाड़ियों से अवैध वसूली का मामला सामने आया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में एसईसीएल चिरमिरी के ओपन कास्ट प्रोजेक्ट से कोयला परिवहन करने वाली माल गाड़ियों से अवैध वसूली का मामला सामने आया है. बता दें कि ये खुलासा ईटीवी न्यूज़ की टीम ने अपने स्टिंग ऑपरेशन में किया है.

आपको बता दें कि चालकों और ट्रक मालिकों ने विभागीय कर्मचारियों-अधिकारियों पर कोरिया जिले में चिरमिरी स्थित साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एसईसीएल) की खदानों में हर ट्रक से ढाई से तीन हजार रुपए की अवैध वसूली का आरोप लगाया है. चिरमिरी में बरतुंगा क्षेत्र की खुली खदान (ओपन कास्‍ट) परियोजना से रोड सेल के माध्यम से कंपनी प्राइवेट लोगों को कोयला बेचती है, लेकिन इन स्थानों पर बेचे जाने वाले कोयले की कीमत और समस्त खानापूर्ति के बाद भी ट्रक चालकों से अवैध वसूली की जाती है.

मामले में एसईसीएल कर्मचारी के बेटे ने ट्रक मालिकों से प्रतिदिन 2 हजार रुपए की अवैध उगाही करने की बात स्वीकारी है. कॉलरी सब एरिया मैनेजर चिरमिरी एरिया के वरिष्ठ अधिकारी स्टाफ की ईटीवी टीम के सामने अवैध उगाही करने वाले गिरोह के नाम भी स्वीकार किए.

इस पूरे काम में कॉलरी कर्मचारी का बेटा और 10 सदस्य टीम में शामिल हैं. मालवाहक लगाने की सेटिंग सब एरिया मैनेजर द्वारा कराने की बात कही है. वहीं उगाही के तरीके, दांव-पेंच और गणित की बारीकी से जानकारी मुहैया कराई है.

पिछले 10 महीने में इस गिरोह द्वारा करीब 7 करोड़ अवैध वसूली करने का अनुमान लगाया गया है. ऐसे में गिरोह का हर सदस्य पिछले 10 महीने में ही करोड़पति बन गया है. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि कितनी बड़ी राशि की अवैध वसूली की जा रही है. रोड सेल अधिकारी और बरतुंगा ओपन कास्ट इंचार्ज की अवैध वसूली से तंग आ चुके ट्रक चालक और ट्रक मालिकों ने इसकी शिकायत पूर्व में चिरमिरी क्षेत्र के महाप्रबंधक से भी की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई.

वहीं इस संबंध में चिरमिरी में अंतर-क्षेत्रीय खेलकूद प्रतियोगिता में शामिल होने आए एसईसीएल डायरेक्टर ऑफ पर्सनल डॉ. आर. एन. झा से जब ईटीवी ने सवाल किया तो वो सवाल से बचते नजर आए. साथ ही यह कह दिया कि इस संबंध में एसईसीएल चिरमिरी के क्षेत्रीय महाप्रबंधक बताएंगे.

गौरतलब है कि एसईसीएल के नियम के मुताबिक रोड सेल से कोयला क्रय करने वालों को कोयले की कीमत और ट्रक में लोड करने तक का जो भी शुल्क होता है, उसे चुकता करने के बाद डिलीवरी ऑर्डर (डीओ) दिया जाता है. इसमे स्पष्‍ट रूप से लिखा होता है- डीओ लिफ्टिंग ऑफ कोल, नो पेमेंट रिक्‍वायर्ड. इसके बाद भी प्रति ट्रक से अवैध वसूली की जाती है. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि यहां कितना बड़ा अवैध कोयले का कारोबार चल रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज