कोरिया: सरकारी दुकानों में नहीं है स्टॉक, धड़ल्ले से बिक रही अवैध शराब
Korea News in Hindi

कोरिया: सरकारी दुकानों में नहीं है स्टॉक, धड़ल्ले से बिक रही अवैध शराब
कोरिया: सरकारी दुकानों में नहीं है स्टॉक, धड़ल्ले से बिक रही अवैध शराब

शराब दुकान में शराब न मिलने से एक तरफ जहां राजस्व की क्षति हो रही है, वहीं अधिकारियों की लापरवाही से अवैध शराब की बिक्री को बल मिल गया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में भले ही शराबबंदी की घोषणा नहीं हुई है, लेकिन कोरिया जिले में आबकारी अधिकारियों की मनमानी के चलते दो देसी शराब दुकानों में ताले लटका दिए गए हैं. शराब दुकान में शराब न मिलने से एक तरफ जहां राजस्व की क्षति हो रही है, वहीं अधिकारियों की लापरवाही से अवैध शराब की बिक्री को बल मिल गया है.

कोरिया जिले के झगराखण्ड और चैनपुर में संचालित देसी शराब दुकान में बीते 4 दिनों से स्टॉक नहीं है. दुकान में शराब नहीं होने की वजह से वहां मौजूद सेल्समैन भी हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं. इस बारे में उनसे पूछे जाने पता चला कि जिला मुख्यालय से डीओ नहीं मिलने के कारण शराब नहीं मिल पा रही है. बहरहाल, वजह चाहे जो भी हो इससे साफ जाहिर है कि जिले के आला अधिकारी इस मुद्दे पर किस तरह की लापरवाही बरत रहे हैं. वहीं इस बारे में जिले के अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं.

इधर, शराब प्रेमियों को कहना है कि उन्हें शासकीय ठेके में शराब नहीं मिलने पर उन्हें कहीं से भी खरीद कर पीनी पड़ रही है. वहीं सूत्रों के मुताबिक अवैध शराब की बिक्री को बढ़ावा देने के लिए जिले के आबकारी अधिकारी मनमानी कर रहे हैं. बहरहाल, वजह चाहे जो भी हो अधिकारियों की मनमानी से राजस्व की भारी क्षति हो रही है.



आपको बता दें कि अकेले देसी शराब दुकान में रोजाना 1 लाख की शराब बिक्री होती है. वहीं चैनपुर में भी रोजाना 60 से 70 हजार रुपए की बिक्री होती है. ऐसे में बड़ा सवाल ये उठता है कि आखिर सरकार को हो रहे नुकसान की जवाबदेही किसकी होगी.



ये भी पढ़ें:- साइकिल से भारत भ्रमण का रिकॉर्ड बनाने निकले ‘आफताब’ कोरिया जिले में पहुंचे

ये भी पढ़ें:- मां बनने की चाहत में महिला ने किया कुछ ऐसा काम, फिर हुई दर्दनाक मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading