जेल से रिहा होने के 2 साल बाद भी घर नहीं पहुंचा गोरेलाल, परिजन परेशान
Korea News in Hindi

जेल से रिहा होने के 2 साल बाद भी घर नहीं पहुंचा गोरेलाल, परिजन परेशान
जेल से रिहा होने के 2 साल बाद भी घर नहीं पहुंचा गोरेलाल

कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ उप जेल में छेड़खानी के मामले में 2 साल की सजा काटकर रिहा हुए एक ग्रामीण का 2 साल से कुछ अता-पता नहीं है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में कोरिया जिले के मनेंद्रगढ़ उप जेल में छेड़खानी के मामले में 2 साल की सजा काटकर रिहा हुए एक ग्रामीण का 2 साल से कुछ अता-पता नहीं है. पिता की तलाश में भटक रहे पुत्र ने कई जगह आवेदन दिया, लेकिन कहीं कोई कार्रवाई नहीं हुई. उसके पिता को खोजने के लिए कोई पहल नहीं की गई और ना ही आज तक उसके पिता का कोई पता चल पाया.

छेड़खानी के जुर्म में 2 साल की सजा काट रहे गोरेलाल को मई 2017 में रिहा करने की बात कही गई थी. इस दौरान अपने गोरेलाल की रिहाई की जानकारी मिलने के बाद परिजन गोरेलाल के घर आने का इंतजार करते रहे, लेकिन कई दिन बीत जाने के बाद भी वह घर नहीं पहुंचा. इस पर गोरेलाल के बेटे ने शिकायत लोक सुराज और मनेंद्रगढ़ थाने में की.

पुलिस ने बेटे की शिकायत पर गोरेलाल की गुमशुदगी का मामला दर्ज कर लिया, लेकिन आज तक उसके पिता को तलाश करने के लिए कोई पहल नहीं की गई. 2 साल से लापता पिता की तलाश के लिए उसके बेटे सूरज ने पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है.



सूरज (गोरेलाल का बेटा) ने बताया कि उसने जब जेल प्रबंधन से पिता की रिहाई के दस्तावेज की मांग की तो, करीब डेढ़ साल तक उसे घुमाया गया और फिर कोई जानकारी नहीं दी गई. बाद में उसने इस संबंध में थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई, तब जेल प्रबंधन ने 11 फरवरी 2019 को उसके पिता की रिहाई का दस्तावेज सौंपा. ऐसे में बड़ा सवाल ये उठता है कि जेल से रिहा होने के बाद आखिर गोरेलाल कहां गया ? इस मामले में उप जेल प्रबंधन डेढ़ साल तक गोरेलाल के परिजनों को उसकी रिहाई के दस्तावेज क्यों नहीं सौंप रहा था.



ये भी पढ़ें:- कोरिया के जिला अस्पताल पर लापरवाही का आरोप, संदिग्ध मौत के बाद नहीं कराया पोस्टमार्टम

ये भी पढ़ें:- कोरिया: सगा भाई ही निकला बहन का कातिल, 48 घंटे में पुलिस ने धर दबोचा

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading