लाइव टीवी

महासमुंद में मिलावट कर बेची जा रही थी महंगी शराब, छापेमारी में 10 आरोपी गिरफ्तार
Mahasamund News in Hindi

Manohar Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: February 3, 2020, 11:47 AM IST
महासमुंद में मिलावट कर बेची जा रही थी महंगी शराब, छापेमारी में 10 आरोपी गिरफ्तार
महासमुंद में सरकारी दुकान में शराब में मिलावट के खेला का एक बड़ा रैकटे सामने आया है. सांकेतिक फोटो.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में सरकार को एक बड़ा राजस्व (Revenue) देने वाले आबकारी विभाग (Excise Department) में महासमुंद (Mahasamund) से मिलावट के खेल का मामला उजागर हुआ है.

  • Share this:
महासमुंद. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में सरकार को एक बड़ा राजस्व (Revenue) देने वाले आबकारी विभाग (Excise Department) में महासमुंद (Mahasamund) से मिलावट के खेल का मामला उजागर हुआ है. महासमुंद में सरकारी शराब दुकान (Government liquor store) में शराब में मिलावट करते 10 लोग पकड़े गये है, जो निम्न और ब्रांडेड शराबों में मिलावट का खेल कर न केवल लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे थे. बल्कि सरकार को भी एक बड़ा चपत लगा रहे थे. हैरत की बात यह है कि इन 10 लोगों में 2 प्लेसमेंट एजेंसी के सेल्समैन हैं तो 8 लोग बाहरी बताए जा रहे हैं, जिसे सिर्फ शराबों में मिलावट करने के लिए बुलाया गया था.

महासमुंद (Mahasamund) में सरकारी दुकान में शराब में मिलावट के खेला का एक बड़ा रैकटे सामने आया है, जिसमें पुलिस (Police) और आबकारी विभाग की संयुक्त टीम में 10 लोगों को गिरफ्तार किया है. दरअसल आबकारी विभाग को सूचना मिली थी कि शहर के नयापारा स्थित शासकीय मदिरा दुकान में अलर्ट कमाण्डोस प्राइवेट लिमिटेड के कर्मचारी चोरी से शराब बेच रहे हैं और मिलावट का खेल चल रहा है. सूचना की तस्दीक करने के बाद आबकारी विभाग ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद पुलिस व आबकारी विभाग ने संयुक्त टीम गठित कर दुकान में छापेमारी की गई. जहां शासकीय मदिरा दुकान में दस लोग पाये गये, जो शराब की पेटी को खोलकर शराब में मिलावट कर रहे थे. उसके बाद पुलिस ने दसो युवकों को गिरफ्तार कर लिया.

इनकी हुई गिरफ्तारी
गिरफ्तार किये गये आरोपियों में से दो मोहित यादव व मोहन पटेल प्लेसमेंट एजेंसी अलर्ट कमाण्डोस प्राइवेट लिमिटेड के सेल्समेन हैं तो वहीं आरोपियो में से दो धमतरी, एक रायपुर और सात महासमुंद के रहने वाले हैं. सभी की उम्र 20 वर्ष से 32 वर्ष के बीच है. मिलावट के इस खेल में नीचे से लेकर ऊपर तक के लोग, प्लेसमेंट एजेंसी के भी शामिल होने की आशंका जताई जा रही है. छापमार कार्रवाई से यह भी पता चला कि शासकीस मदिरा दुकान की बिक्री के 8 लाख 98 हजार 800 रुपये थे, लेकिन आबकारी विभाग को मौके से 4 लाख 82 हजार 400 रुपये ही मिले. शेष राशि 4 लाख 16 हजार 400 रुपये वहां से गायब हैं. महासमुंद के कोतवाली प्रभारी राकेश खुटेश्वर ने बताया कि पुलिस ने पकड़े गये आरोपियों से भारी मात्रा में नकली ढक्कन, होल मार्क स्टीकर, खाली बोतल और दो पेटी मिलावटी शराब जब्त कर इन आरोपियो पर आबकारी एक्ट की धारा 49 व धारा 409 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर कार्रवाई की है.

ये भी पढ़ें: नक्सलियों के गढ़ में पंचायत चुनाव कराने महिला कमांडो ने संभाला मोर्चा, वोटिंग जारी 

छत्तीसगढ़ पंचायत चुनाव: वोटिंग के दौरान लठैतों की दबंगई, हिरासत में लिए गए पूर्व सरपंच के 12 समर्थक 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महासमुंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 3, 2020, 11:47 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर