Home /News /chhattisgarh /

bjp got setback in mahasamund municipality congress victory no confidence motion passed cgnt

बीजेपी के गढ़ में कांग्रेस की सेंधमारी, बहुमत के बाद भी अविश्वास प्रस्ताव में गिरी अध्यक्ष की कुर्सी

छत्तीसगढ़ के महासमुंद में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है.

छत्तीसगढ़ के महासमुंद में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है.

छत्तीसगढ़ के महासमुंद नगर पालिका में बीजेपी के गढ़ में कांग्रेस ने सेंधमारी कर दी है. 20 मत से अविश्वास प्रस्ताव पारित हो गया है. बीजेपी अध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर की कुर्सी गिर गई है. इसके बाद अब पार्टी विरोधी काम करने वालों पर कार्रवाई की तैयारी की जा रही है.

अधिक पढ़ें ...

महासमुंद. छत्तीसगढ़ के महासमुंद नगर पालिका में शहर सरकार में बड़ा बदलाव देखने को मिला. बीजेपी के गढ़ में कांग्रेस ने सेंध लगा दी है और अपना झंडा गाड़ दिया है. नगर पालिका में बीजेपी अध्यक्ष प्रकाश चंद्राकर की कुर्सी गिरी गई है. 20 मतों से अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित हो गया है. बता दें कि बीते सोमवार की सुबह 11 बजे से नगर पालिका में मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई. रिटर्निंग अधिकारी एसडीएम भागवत जायसवाल ने सम्मिलन की प्रक्रिया पूरी कराई.

नगर पालिका में हुए अविश्वास प्रस्ताव के सम्मिलन में पालिका के 30 में से 29 पार्षदों ने हिस्सा लिया. वार्ड 22 की भाजपा पार्षद हेमलता यादव अनुपस्थित रही. 29 मत में से 20 ने अध्यक्ष की कुर्सी गिराने कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया. साथ ही बीजेपी को 3 मत मिले तो 6 अमान्य हो गए. जैसे ही पालिका में बहुमत के साथ अविश्वास प्रस्ताव पारित हुआ नगर पालिका के बाहर कांग्रेस का जश्न शुरू हो गया. सभी भूपेश सरकार की जयघोष करने लगे और एक दूसरे को गले मिलकर बधाई देते नजर आए. हैरत की बात यह रही कि इस निर्वाचन में बीजेपी अपनी साख नहीं बचा पाई. बहुमत होने के बाद भी बीजेपी की कुर्सी खिसक गई.

धनबल के दम पर जीत का आरोप
इधर जहां बीजेपी से अध्यक्ष रहे प्रकाश चंद्राकर इसे धन बल व बाहुबल की जीत बता रहे हैं. वहीं कांग्रेस के स्थानीय विधायक व संसदीय सचिव इसे सीएम भूपेश बघेल के विकास व कांग्रेस की जीत बता रहे हैं. आगे सभी को साथ लेकर काम करने व शहर का रूका हुआ विकास अब आगे बढ़ने की बात करते नजर आए. महासमुंद नगर पालिका में बहुमत नहीं होने के बाद भी कांग्रेस ने भाजपा के हाथ से अध्यक्ष की कुर्सी खसकाने में सफलता हसील कर ली है. भाजपा में अविश्वास प्रस्ताव के बाद मंथन का दौर शुरू हो गया है. इसके साथ ही क्रॉस वोटिंग करने वालों पर पार्टी ने सख्त रूख अपनाना शुरू कर दिया है.

महासमुंद के भाजपा के 8 पार्षदों पर अब निष्कासन की तलवार लटक गई है. 8 पार्षदों को पार्टी से निष्कासित करने जिला भाजपा समन्वय समिति ने अनुशंसा की है. पार्षद हाफिज कुरैशी, मीना वर्मा, महेंद्र जैन, पवन पटेल, मंगेश टांकसाले, बड़े मुन्ना देवार, माधवी सिका और मनीष शर्मा को निष्काषित करने की अनुशंसा की है. भाजपा ने सभी 8 पार्षदों को पार्टी से 6 साल तक निष्काषित करने की अनुशंसा की है.

Tags: Chhattisgarh news, Mahasamund News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर