लाइव टीवी

BJP के पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष ने परिवार के साथ नई पार्टी में जाने का किया ऐलान

Manohar Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: August 22, 2018, 2:21 PM IST
BJP के पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष ने परिवार के साथ नई पार्टी में जाने का किया ऐलान
बीजेपी के पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष ने परिवार के साथ नई पार्टी में जाने का किया ऐलान

चुनाव के पास आते ही दलबदलू नेता अपना वर्चस्व स्थापित करने और चुनाव में दावेदारी पेशकश करने के लिए खुद को साबित करने में जुट गए हैं.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही नेताओं की दल-बदल की राजनीति भी शुरू हो जाती है. दलबदलू नेता अपना वर्चस्व स्थापित करने और चुनाव में दावेदारी पेशकश करने के लिए खुद को साबित करने में जुटे हैं. महासमुंद की राजनीतिक वातावरण भी इन दिनों कुछ ऐसी ही है. महासमुंद विधानसभा क्षेत्र की राजनीति में आए अप्रत्याशित भूकंप से राजनीतिक क्षेत्रों में खलबली मच गई है.

दोनों ही राष्ट्रीय पार्टियों यानि बीजेपी और कांग्रेस को अपने जनाधार का एक बड़ा हिस्सा खिसकता हुआ नजर आ रहा है. दरअसल, बीजेपी और कांग्रेस में हो रही अपनी कथित उपेक्षा से क्षुब्ध होकर जनपद अध्यक्ष धरमदास महिलांग, बीजेपी के युवा नेता त्रिभुवन महिलांग और बीजेपी के पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष राशि महिलांग ने अपने पूरे परिवार, 14 सरपंच और 8 जनपद सदस्यों समेत शहर के बीजेपी मंडल के कार्यकर्ता और सैकड़ों समर्थकों के साथ अजीत जोगी की पार्टी जनता छत्तीसगढ़ कांग्रेस (जे) यानी जेसीसीजे का दामन थामने का ऐलान कर दिया है.

इस ऐलान के बाद महासमुंद की राजनीति का समीकरण बुरी तरह से प्रभावित होता नजर आ रहा है. जोगी का दामन थामने वाले इन नेताओं में कुछ कांग्रेस के कार्यकर्ता भी हैं, तो ज्यादातर कार्यकर्ता बीजेपी के हैं. सालों से बीजेपी के साथ रहे महिलांगे परिवार और अन्य नेताओं का एक साथ जोगी की पार्टी में चले जाना बीजेपी के लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है. बीजेपी को छोड़कर जोगी पार्टी का दामन थामने वाले बीजेपी नेता त्रिभुवन महिलांगे की मानें तो बीजेपी सरकार के कार्यकाल में हर वर्ग के लोग परेशान हैं. परेशान लोगों के लिए सरकार कोई कदम नहीं उठा रही, जिस कारण बीजेपी का दामन छोड़कर वे जोगी की पार्टी में शामिल हुए हैं.

अनुसूचित जाति और जनजाति बहुमत में अपना लोहा मनवाने वाले इन नेताओं के पार्टी छोड़ने के बाद  अब कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टी अपनी सफाई देने और अपनी पीठ थपथपाने में लगी है. कांग्रेस जहां इन सबके पीछे बीजेपी का गिरता जनाधार बता रही है, वहीं बीजेपी अपनी पार्टी को सागर बताते हुए पार्टी में लोगों का आना-जाना लगा रहने की बात कहते हुए कांग्रेस को अपने घर की चिंता करने की नसीहत दी है.

बहरहाल, टिकट की दावेदारी कर रही दोनों ही बड़ी पार्टियों के नेताओं में अभी और भी कई बदलाव के आसार हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महासमुंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2018, 2:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर