अपना शहर चुनें

States

बैंक के सामने उमड़ी भीड़, ऐसे हो रहा है महासमुंद में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन

पुलिस लगातार लोगों को समझाइश दे रही है.
पुलिस लगातार लोगों को समझाइश दे रही है.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के महासमुंद (Mahasamund) जिले के विभिन्न बैंकों के बाहर इन दिनों भारी भीड़ दिखाई पड़ रही है.

  • Share this:
महासमुंद. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के महासमुंद (Mahasamund) जिले के विभिन्न बैंकों के बाहर इन दिनों भारी भीड़ दिखाई पड़ रही है. बैंकों (Bank) में पैसे निकालने के लिए महिलाओं का हुजूम उमड़ पड़ा है. प्रशासन के लॉकडाउन (Lock down) का असर बैंकों में बिल्कुल भी दिखाई नहीं पड़ रहा है. लोग खुलेआम सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे हैं. शासन के निर्देशानुसार हर किसी को मास्क लगाना अनिवार्य है. लेकिन यहां कईयों ने तो मास्क तक नहीं लगाया है और बैंकों के बाहर पैसे निकालने के लिए भीड़ लगाकर खड़े हो जा रहे हैं.

महासमुंद के मुख्य मार्गों में स्थित कई सरकारी और गैर सरकारी बैंकों के साथ ग्राहक सेवा केंद्रों में रोजाना इस तरह की भीड़ देखी जा रही है. इस भीड़ के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना पुलिस के लिए भी चुनौती बन गई है. गुरूवार को भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला. इसकी सूचना पर महासमुंद एएसपी मेघा टेम्बूरकर अपने टीम के साथ बैंकों में पहुंची और प्रबंधकों को जमकर फटकार लगाई.

पुलिस ने दी समझाइश



बैंक पहुंचे महिलाओं को सोशल डिस्टेंसिंग में खड़ा कराया गया और कुछ लोगों को समझाइश देकर वापस घर भी भेजा गया. दरअसल, लोगों में यह भी अफवाह है कि अगर रूपए नहीं निकाले गए तो लैप्स हो जाएंगे. आपको बता दें कि देश में कोरोना संक्रमण को देखते हुए राहत के लिए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत खोली गई महिलाओं के खाते में 5-5 सौ और उज्जवला योजना के तहत गैस का पैसा जमा कराया है. जिसे निकालने के लिए रोजाना बैंकों के बाहर भीड़ लग रही है. बैंकों में स्टाफ की कमी के चलते अव्यवस्था देखने को मिल रही है.
कहीं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा तो कहीं सैनिटाइज करने की पर्याप्त व्यवस्था नहीं है. बैंकों के खुलने से पहले ही लोग बैंकों के बाहर कहीं भीड़ लगाकर तो कहीं कतार लगाकर खड़े हो जा रहे है. बैंकों के बाहर सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने के लिए गोला जरूर बनाया गया है लेकिन लोग भीड़ ज्यादा होने के कारण उसका भी पालन नहीं कर रहे हैं. कहीं गोले में लोग खड़े नहीं हो रहे तो कही बिना दूरी बनाए ही एक साथ एकत्र होकर बैठे नजर आ रहे हैं. जबकि प्रशासन और पुलिस दोनों ही लगातार लोगों के दूरी बनाये रखने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और घरों में ही रहने और बेहद जरूरत पड़ने पर ही बाहर निकलने की अपील कर रही है.

आपको बता दें कि इन्हीं सब बातों को लेकर बीते दिनों बैंक अधिकारियों की प्रशासन और पुलिस ने संयुक्त बैठक ली थी. बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने, ग्राहकों की सुविधा के लिए साबुन, पानी और सैनिटाइजर की व्यवस्था कराने और ग्राहक सेवा केंद्रों के जरिये लोगों तक मदद पहुंचाने की बात कही गई थी. लेकिन बैंक प्रबंधनों की लापरवाही के चलते तमाम नियमों की धज्जियां उड़ते नजर आ रही है. पंजाब नेशनल बैंक महासमुंद के चीफ मैनेजर विजय कुमार ने बताया कि नियमों को पालन कराने का प्रयास किया जा रहा है. लोगों में अफवाह फैलने के कारण भारी भीड़ उमड़ने की बात कर रहे है. साथ ही लोगों से अपील कर रहे है कि इस तरह की अफवाहों में न पड़े और आराम से कभी भी आकर अपना पैसा निकाल ले.

पुलिस कर सकती है कार्रवाई

वहीं एएसपी महासमुंद मेघा टेम्बूरकर साहू का कहना है कि भारी भीड़ को देखते हुए व्यवस्था को दुरूस्त कराया गया है. बैंक के मैनेजरों को स्ट्रीकली हिदायत दी गई है.  इसके बाद भी यदि कोई लापरवाही बरती जाती है तो सीधे उनपर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें: 

COVID-19: फिर रायपुर के सब्जी मार्केट में लगी भीड़, तो कैसे होगी सोशल डिस्टेंसिंग?

लॉकडाउन में स्कूटर से नशीली चीजें बेच रहा था 53 साल का बुजुर्ग, गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज