प्रशासनिक लापरवाही से बेघर हुई महिला, मकान की किश्त के लिए काट रही दफ्तरों के चक्कर

Manohar Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: July 11, 2019, 1:40 PM IST
प्रशासनिक लापरवाही से बेघर हुई महिला, मकान की किश्त के लिए काट रही दफ्तरों के चक्कर
अपने घर की किश्त के लिए महिला अधिकारियों के चक्कर लगा रही है.
Manohar Singh Rajput
Manohar Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: July 11, 2019, 1:40 PM IST
छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में शासनिक लापरवाही का खामियाजा एक बुजुर्ग महिला को भुगतना पड़ रहा है. जानकारी के मुताबिक पीएम आवास स्वीकृत होने के बाद महिला ने अपना पुराना कच्चा मकान तोड़ दिया. पहली किस्त के नाम पर महिला को 35 हजार रूपए भी मिले. महिला ने मकान बनाना शुरू भी कर दिया. अब मकान की नींव खड़ी होने के बाद दूसरे किस्त के लिए महिला सालभर से शासकीय कार्यालय के चक्कर लगा रही है लेकिन राशि नहीं मिली. अब महिला से कहा जा है कि आप के नाम पीएम आवास स्वीकृत नहीं हुआ है. अब परेशान महिला ने कलेक्टर से फरियाद लगाई है. वहीं आला अधिकारी एकाउंट में गड़बड़ी का हवाला देते हुए जल्द ही राशि देने की बात कर रहे है.

ये है पूरा मामला

बता दें कि महासमुंद जिले के विकासखण्ड पिथौरा के ग्राम लाखागढ़ की रहने वाली राधाबाई बाघवानी कच्चे मकान में अपने दो बच्चों के साथ रहती थी. महिला के पति की मौत 2004 में हो गई थी. मजदूरी कर महिला अपने बच्चों का पालन पोषण करती है. तकरीबन एक साल पहले महिला का प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुआ और पहली किश्त जो 35 हजार रूपए है महिला के खाते में आई.

chhattisgarh news, छत्तीसगढ़ latest news, छत्तीसगढ़ समाचार, Chhattisgarh samachar,Chhattisgarh news in hindi, mahasamund, mahasamund news, woman lost home, woman lost home in mahasamund, महासमुदं न्यूज, महासमुंद में बेघर हुई महिला, महासमुंद की खबर
मकान की नीव बनने के बाद बाकि की राशि के लिए महिला अधिकारियों के चक्कर काट रही है.


महिला ने अपने कच्चे मकान को तोड़कर पक्के मकान की नीव डलवाई. 35 हजार रूपए खत्म होने के बाद महिला जब जनपद पंचायत पिथौरा गई तो उसे जानकारी दी गई कि उसका पीएम आवास स्वीकृत ही नहीं हुआ है. मकान टूटने और आशियान छिन जाने से पीड़ित महिला दूसरे के घर में निवास कर रही है. अब पीड़ित महिला उच्च अधिकारियों से इंसाफ के लिए फरियाद कर रही है. इस पूरे मामले में जिला पंचायत सीईओ ऋतुराज रघुवंशी का कहना है कि एकांउट में गड़बड़ी के कारण महिला को राशि नहीं मिली है. महिला को जल्द राशि दिला दी जाएगी.

ये भी पढ़ें: 

इलाज के दौरान कैदी की जिला अस्पताल में मौत, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप 
Loading...

विदेशों की शिक्षा व्यवस्था से प्रेरित होकर सूरजपुर के इस शख्स ने तैयार किया बैग लेस स्कूल 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महासमुंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 11, 2019, 1:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...