लाइव टीवी

अच्छी बारिश से महासमुंद में धान बोने का काम शुरू, खाद बीज की कमी से किसान परेशान

Manohar Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: July 4, 2019, 6:03 PM IST
अच्छी बारिश से महासमुंद में धान बोने का काम शुरू, खाद बीज की कमी से किसान परेशान
बारिश से किसान खुश लेकिन खाद बीज की कमी कर रही है परेशान.

कृषि विभाग किसानों के लिए खाद बीज का पर्याप्त भंडारण करने का दावा कर रही है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में मानसून की लगातार झड़ी और पीछले दो तीन दिनों से हुई लगातार बारिश ने खेती किसानी के लिए मौसम को अनुकूल बना दिया है. अच्छी बारिश की आस में बैठे किसानों के चेहरे खिल गए है और किसान खेतों में किसानी के काम में जुट गए है. बता दें कि महासमुंद जिले के 81 हजार 680 हैक्टेयर में धान बोने का काम पूरा कर लिया गया है. एक ओर किसान जहां खुशी-खुशी अपने काम में जुटे है तो वहीं समय अनुसार खाद-बीज नहीं मिलने की बात भी कह रहे है. वहीं कृषि विभाग भी किसानों के लिए खाद बीज का पर्याप्त भंडारण करने का दावा कर रही है.

खाद बीज की कमी से किसान परेशान

बता दें कि बीते 2 दिनों से महासमुंद में हुई लगातार बारिश के बाद जिले में 136.8 मिली मीटर वर्षा दर्ज की गई है. जिलेभर में हुई अच्छी बारिश से किसानों के चेहरे खिल गए है और किसान खेती के काम में जुट गए है. महासमुंद जिले की बात करें तो 2 लाख 69 हजार 50 हेक्टेयर में से 2 लाख 40 हजार 12 हेक्टेयर में किसान धान की खेती की जारी है. इसमे से अब तक किसानों ने 81 हजार 680 हेक्टेयर में बोआई का काम पूरा कर लिया है. बारिश को जहां किसान फायदेमंद बता रहे है तो वहीं खाद-बीज की किल्लत से भी परेशान हो रहे है. किसानों की मानें को सोसायटियों में पर्याप्त भंडारण नहीं होने के कारण उन्हें खाद-बीज समय पर नहीं मिल पा रहा है. जिससे किसानी का काम पिछड़ जाता है.

 

अधिकारी ने कही ये बात

कृषि विभाग के सहायक संचालक कुसुम वर्मा की मानें तो किसानों की खेती को देखते हुए जिले के सोसयटियों में इस बार 52 हजार 920 क्वींटल धान बीज की आवश्यकता पर 49 हजार 562 क्वींटल बीज का भंडारण किया गया है. इसमे से अब तक 28 हजार 811 क्वींटल बीज का वितरण किया जा चूका है. वहीं 63 हजार 200 टन खाद की आवश्यकता को देखते हुए 30 हजार 238 टन खाद का भंडार किया जा चूका है. इसमे से 23 हजार 536 टन खाद का वितरण किया जा चूका है.

विभाग कर रही ये दावा
Loading...

किसानों को उन्नत किस्म का बीज और खाद मिल सके इसके लिए विभाग खाद और बीज के नमूने लेने के भी दावे कर रही है. इसमे जिले के सरकारी सोसायटी और निजी दुकानों से बीज के 87 नमूने और खाद के 98 नमूने लिए गए है. इसमे से बीज के 5 नमूने अमानक और 69 मानक पाए गए है. शेष 13 के परिणाम बाकि है. तो वहीं खाद का 1 नमूना अमानक और 71 मानक पाये गये है, शेष 26 नमूनों का रिजल्ट अभी बाकी है. गौरतलब है कि जैसे-जैसे किसानी के काम में तेजी आएगी खाद और बीज का उठाव के साथ पर्याप्त भंडारण नहीं होने के कारण किसानों को परेशानियों का सामना भी करना पड़े सकता है.

ये भी पढ़ें:

शुभम नामदेव हत्याकांड: दो संदेहियों से हो रही पूछताछ, पुलिस जल्द कर सकती है खुलासा 

बस्तर में होने वाले उपचुनाव को अग्नि परीक्षा मानते हैं PCC चीफ मोहन मरकाम  

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महासमुंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 4, 2019, 6:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...