लाइव टीवी

एलपीजी प्लांट में आग लगने के बाद खुली प्रशासन की व्यवस्था की पोल

Manohar Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: March 22, 2018, 3:10 PM IST
एलपीजी प्लांट में आग लगने के बाद खुली प्रशासन की व्यवस्था की पोल
Fire in the LPG plant revels faults policing arrangement

महासमुंद जिले में संचालित हो रही फैक्ट्रियों में सुरक्षा के मानकों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है.

  • Share this:
महासमुंद जिले के बेलसोंडा-नवागांव रोड पर स्थित साबू एलपीजी प्लांट में आगजनी के मामले ने एक बार फिर प्रशासन की सुस्तगर्दी और लचर व्यवस्था की पोल खोल दी है. इंडस्ट्रियल हेल्थ एंड सेफ्टी डिपार्टमेंट दिखावे के नाम पर एक बार फिर कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति करने में लगी है.


प्लांट में आग लगने के मामले में जांच के नाम पर विभाग ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं होने की बात कही है. मामला गर्म होने के कारण
फिलहाल जांच पूरा होने तक फैक्ट्री को बंद कर दिया गया है
. घटना के बाद अब श्रमिकों ने स्थानीय विधायक से प्रबंधन की शिकायत की है.

आपको बता दें कि महासमुंद जिले में छोटे-बड़े मिलाकर सैकड़ों फैक्ट्रियां संचालित होती है. इन फैक्ट्रियों के सुरक्षा मानक और मजदूरों की सेफ्टी और सुविधा की जिम्मेदारी इंडस्ट्रियल हेल्थ एंड सेफ्टी डिपार्टमेंट और श्रम विभाग के पास होता है. लेकिन विभाग के जिम्मेदार अफसर फैक्ट्रियों में निरक्षण के बिना ही अपनी कागजी कार्रवाई कर लेते है.

मंगलवार को साबू एलपीजी कंपनी में आगजनी मामला जिले का कोई पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी जिले में संचालित कई बड़ी फैक्ट्रियों में आगजनी और लापरवाही जैसे मामले सामने आ चुके है. कई मजदूरों को अपनी जान तक गवानी पड़ी है. इंडस्ट्रियल सेफ्टी की टीम बुधवार को साबू गैस सिलेंडर फैक्ट्री में जांच के लिए पहुंची थी. टीम ने मामले में प्रारंभिक जांच की और श्रमिकों का बयान दर्ज किया है.

इंडस्ट्रियल सेफ्टी की टीम ने पाया कि फैक्ट्री में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं थे, जिसके चलते आगजनी की बड़ी घटना हुई है
. जांच के दौरान श्रम विभाग के सहायक श्रम पदाधिकारी, फायर एंड सेफ्टी, पर्यावरण विभाग के अन्य अफसर भी मौजूद थे. प्रारंभिक जांच के दौरान टीम ने फैक्ट्री संचालकों से आवश्यक दस्तावेज उपलब्ध कराने कहा है. साथ ही टीम ने अपनी प्रारंभिक जांच में पाया कि मौके पर फायर सेफ्टी की उचित व्यवस्था नहीं थी. इधर फैक्ट्री प्रबंधन विभाग के बातों को काटते हुए तमाम सुविधा होने की बात कह रही है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महासमुंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 22, 2018, 3:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर