छत्तीसगढ़: पूर्व गृहमंत्री रामसेवक पैकरा पर लगा धोखाधड़ी का आरोप, थाने में मामला दर्ज

शिकायतकर्ता ने अपने आवेदन में पूर्व गृहमंत्री रामसेवक पैकरा सहित कई आईएएस और आईपीएस अफसरों के खिलाफ धोखाधड़ी में साथ देने की शिकायत याचिका हाईकोर्ट में लगाई है.

Manohar Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: July 23, 2019, 5:21 PM IST
छत्तीसगढ़: पूर्व गृहमंत्री रामसेवक पैकरा पर लगा धोखाधड़ी का आरोप, थाने में मामला दर्ज
मिली जानकारी के मुताबिक हाई कोर्ट के आदेश के बाद थाने में जीरो पर मामला दर्ज कर केस डायरी रायपुर भेजा गया है. (Demo pic)
Manohar Singh Rajput
Manohar Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: July 23, 2019, 5:21 PM IST
छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले के खल्लारी थाना में सनसाइन इन्फ्राबिल्ड कॉरपोरेशन लिमिटेड चिट फंड कंपनी के संचालक, डायरेक्टर और कर्मचारियों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है. मिली जानकारी के मुताबिक हाईकोर्ट के आदेश के बाद थाने में मामला दर्ज कर केस डायरी रायपुर भेजा गया है. शिकायतकर्ता ने अपने आवेदन में पूर्व गृहमंत्री रामसेवक पैकरा सहित कई आईएएस और आईपीएस अफसरों के खिलाफ धोखाधड़ी में साथ देने की शिकायत याचिका हाईकोर्ट में लगाई है.

ये है पूरा मामला

महासमुंद जिले के ग्राम खट्टी के दिनेश पानीकर और ग्राम डुमरपाली के नंद कुमार निषाद ने सनसाइन इन्फ्राबिल्ड कॉरपोरेशन लिमिटेड अक्षतनगर रायपुर चिटफंड कम्पनी में अपने परिवार के नाम से 13 लाख 11 हजार 881 रूपए वर्ष 2010 से वर्ष 2013 के बीच जमा किया. सनसाइन इन्फ्राबिल्ड कॉरपोरेशन लिमिटेड ने इन लोगों से कहा कि हमारी कंपनी 6 साल में राशि दोगुना कर देती है. 6 साल पूरा हो जाने के बाद लोगों ने रायपुर जाकर पता किया तब मालूम हुआ की कंपनी का मालिक ऑफिस बंद कर फरार हो चुकी थी.

इसके बाद पीड़ित दिनेश पानीकर ने 5 दिसंबर 2018 को और नंद कुमार ने 29 नवंबर 2018 को खल्लारी थाना में शिकायत का आवेदन दिया. जब थाने में मामला दर्ज नहीं हुआ तब दोनों पीड़ितों ने 24 जनवरी 2019 को हाईकोर्ट में याचिका दायर की. हाई कोर्ट ने 5 मार्च को एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया और 29 जून 2019 को खल्लारी थाना में जीरो में मामला दर्ज किया गया.



इन पर लगा है आरोप

पीड़ित ने अपने आवेदन में कंपनी के डायरेक्ट बनवारी लाल बघेल, वकील सिंह बघेल, राजीव गिरी, संजीव सिंह, राजीव सिंह, धरम सिंह, सीमा गिरी, ब्रिजेश भार्गव सहित स्टार प्रचारक रामसेवक पैकरा, अनुमतिदाता प्रदत्तकर्ता रीना बाबा साहब कांगले, अमृतलाल ध्रुवे, सिद्धार्थ कोमल सिंह, भीम सिंह, नीलकंठ टेकाम के खिलाफ मामला दर्ज करने का आवेदन दिया था.
Loading...

आपको बता दें कि हाईकोर्ट ने इसी तरह से नारायण साहू और डेरहाराम निषाद की याचिका पर सिरपुर चौकी में भी मामला दर्ज करने आदेश दिया है. लेकिन मामले में अब तक एफआईआर दर्ज नहीं किया गया है. गौरतलब है कि पुलिस विभाग का कोई भी अधिकारी इस मामले में कुछ भी कहने से बच रहे है.

ये भी पढ़ें: 

स्कूल में नहीं हो रही पढ़ाई-लिखाई, खेतों में काम करने को मजबूर छात्र 

नक्सली शहीदी सप्ताह को लेकर छत्तीसगढ़ में अलर्ट, 14 जिलों में फोर्स रखेगी पैनी नजर

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महासमुंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 23, 2019, 4:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...