लाइव टीवी

महासमुंद- विदेशों से भी श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचते है खल्लारी माता के मंदिर

Manohar Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: March 24, 2018, 3:59 PM IST
महासमुंद- विदेशों से भी श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचते है खल्लारी माता के मंदिर
demo pic

माता खल्लारी और यहां पहाड़ों में मौजूद पूरातात्विक विधाओं को देखने आम दिनों के अलावा नवरात्रि के समय में आस-पास के जिलों के अलाना पूरे प्रदेश और दूसरे प्रदेशों के साथ-साथ विदेशों से भी श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचते है.

  • Share this:



चैत्र नवरात्रि का पर्व उत्साह और उमंग भरे वातावरण में हर्सोल्स के साथ मनाया जा रहा है. लोग माता की उपासना और भक्ति में लीन है. देश-प्रदेश के प्रसिद्ध दैविक स्थलों में लोग माता के दर्शन के लिए उमड़ रहे है. ऐसा ही एक प्रसिद्ध माता का मंदिर है छत्तीसगढ़ के महासमुन्द जिले में हैं.

महासमुंद से लगभग 22 किमी दूर स्थित एक पहाड़ी पर एक शिलाखण्ड है, जो सती स्तम्भ का एक भाग प्रतीत होता है. यह सिन्दूर से पुता हुआ है और खल्लारी माता के रुप में पूजनीय है.पर्यटकों के आकर्षण के केंद्र में से एक है माता खल्लारी का मंदिर.


355 मीटर की ऊंचाई पर 981 सीढ़ियों को चढ़ने के बाद जब आप ऊपर माता के मंदिर पहुंचते है तो वहां की छटा देखकर सारी थकान जैसे गायब सी हो जाती है.ग्रामीणों की माने तो माता के यहां होने से आज तक गांव में कभी अकाल की स्थिति निर्मित नहीं हुई. माता खल्लारी और यहां पहाड़ों में मौजूद पूरातात्विक विधाओं को देखने आम दिनों के अलावा नवरात्रि के समय में आस-पास के जिलों के अलाना पूरे प्रदेश और दूसरे प्रदेशों के साथ-साथ विदेशों से भी श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुंचते है.

हजारों नहीं बल्कि लाखों की संख्या में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मंदिर ट्रस्ट समिति के साथ-साथ सुरक्षा के लिए पुलिस प्रशासन पहले ही तैयार हो जाते है.ट्रस्ट के द्वारा नवरात्रि के पूरे नव दिन खुला भंडारा रखा जाता है. प्राकृतिक सौन्दर्य के बीच ऊंचे पहाड़ पर मौजूद माता का यह मंदिर अपने आप में एक धरोहर है जहां हर कोई अपनी मनोकामना लेकर पहुंचते है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महासमुंद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2018, 3:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर