होटल या ढाबे में खाना खाने जा रहे हैं तो सावधान, जांच में 35 फीसदी नमूने फेल

खाद्य एवं औषधि प्रशासन की टीम खाद्य प्रयोगशाला महासमुंद पहुंची थी, जिसने जिले में स्थित प्रतिष्ठानों, होटलों, ढाबों, ठेलों और किराना दुकानों में जाकर खाद्य एवं पेय पदार्थों के सैंपल लेकर जांच की.

Manohar Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: July 9, 2019, 1:31 PM IST
होटल या ढाबे में खाना खाने जा रहे हैं तो सावधान, जांच में 35 फीसदी नमूने फेल
खा रहे हैं बाहर का खाना, तो हो जाएं सावधान!, प्रशासनिक जांच में 35% सैंपल फेल
Manohar Singh Rajput
Manohar Singh Rajput | News18 Chhattisgarh
Updated: July 9, 2019, 1:31 PM IST
यदि आप होटल, ढाबा और चौपाटी पर खाना, फास्ट फूड या नाश्ता कर रहे हैं तो सतर्क हो जाइये, क्योकि यहां खाना आपके सेहत पर भारी पड़ सकता है, ऐसा हम नहीं बल्कि महासमुंद जिले के खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग से मिले रिपोर्ट कह रही हैं.

खाद्य एवं पेय पदार्थों के सैंपल लेकर की जांच

दरअसल खाद्य एवं औषधि प्रशासन की टीम खाद्य प्रयोगशाला महासमुंद पहुंची थी, जिसने जिले में स्थित प्रतिष्ठानों, होटलों, ढाबों, ठेलों और किराना दुकानों में जाकर खाद्य एवं पेय पदार्थों के सैंपल लेकर जांच की. 3 दिन में जिले के अलग-अलग स्थानों से कुल 135 सैंपल लिए गए, जिसमें से 35 प्रतिशत सैंपल फेल हो गए.

खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग की टीम ने होटलों, ढाबों, ठेलों और किराना दुकानों में जाकर खाद्य एवं पेय पदार्थों के सैंपल लेकर जांच की
खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग की टीम ने होटलों, ढाबों, ठेलों और किराना दुकानों में जाकर खाद्य एवं पेय पदार्थों के सैंपल लेकर जांच की


जांच में 35 प्रतिशत सैंपल हुए फेल

135 नमूनों के परीक्षण में 11 नमूने ऐसे पाए गए जो पूरी तरह से असुरक्षित थे. 15 मिथ्या छाप तो 14 अवमानक पाए गए. असुरक्षित खाद्य सामाग्रियों को खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम ने मौके पर ही नष्ट कर दिया और सभी संचालकों को खाद्य सामाग्रियों के वितरण और संग्रहण को लेकर चेतावनी भी दी गई.

लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई
Loading...

विभाग के मुताबिक ऐसे खाद्य पदार्थ के सेवन से लोगों के स्वास्थ्य खराब हो सकते है, जिसके लिए समय-समय पर लीगल सैंपल लेकर भी कार्रवाई की जाती रहेगी. बावजूद इसके अगर कोई संचालक मनमानी बरतते है तो उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी

प्रशासनिक जांच के दौरान खाद्य एवं पेय पदार्थों के 135 सैंपल में 35 प्रतिशत सैंपल फेल हुए
प्रशासनिक जांच के दौरान खाद्य एवं पेय पदार्थों के 135 सैंपल में 35 प्रतिशत सैंपल फेल हुए


यह भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ में मैगी को मिली क्‍लीनचिट, सैंपल हुए पास
First published: July 9, 2019, 1:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...