Home /News /chhattisgarh /

मोदी की मन की बात झूठ का पुलिंदा: अजीत जोगी

मोदी की मन की बात झूठ का पुलिंदा: अजीत जोगी

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने किसानों की पीड़ा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात को झूठ का पुलंदा करार दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री का कहना है कि यूपीए सरकार के समय भू-अधिग्रहण बिल के प्रावधान किसानों के हित में थे, लेकिन मोदी सरकार ने उन प्रावधानों को खत्म कर बिल में बदलाव किया है।

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने किसानों की पीड़ा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात को झूठ का पुलंदा करार दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री का कहना है कि यूपीए सरकार के समय भू-अधिग्रहण बिल के प्रावधान किसानों के हित में थे, लेकिन मोदी सरकार ने उन प्रावधानों को खत्म कर बिल में बदलाव किया है।

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने किसानों की पीड़ा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात को झूठ का पुलंदा करार दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री का कहना है कि यूपीए सरकार के समय भू-अधिग्रहण बिल के प्रावधान किसानों के हित में थे, लेकिन मोदी सरकार ने उन प्रावधानों को खत्म कर बिल में बदलाव किया है।

अधिक पढ़ें ...
    छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने किसानों की पीड़ा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बात को झूठ का पुलंदा करार दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री का कहना है कि यूपीए सरकार के समय भू-अधिग्रहण बिल के प्रावधान किसानों के हित में थे, लेकिन मोदी सरकार ने उन प्रावधानों को खत्म कर बिल में बदलाव किया है।

    उन्होंने कहा की मन की बात की अधिकांश बाते असत्य है और किसानों के साथ धोखा है। जोगी ने कहा की छत्तीसगढ़ के किसान देख चुके है कि यहां की सरकार किसानों को लेकर कितनी उदासीन है।

    छत्तीसगढ़ के किसानों को आज तक समर्थन मूल्य और 300 रुपय धान का बोनस नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा कि भू-अधिग्रहण बिल से सिर्फ उद्योगपतियों को ही लाभ मिलने वाला है।

    आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

    Tags: Narendra modi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर