पीएम आवास योजना के तहत घर दिलाने के लिए सरपंच पर घूस मांगने का आरोप

Prashant Sharma | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: September 16, 2017, 4:59 PM IST
पीएम आवास योजना के तहत घर दिलाने के लिए सरपंच पर घूस मांगने का आरोप
पंचायत मंत्री अजय चंद्राकर
Prashant Sharma | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: September 16, 2017, 4:59 PM IST
छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले में प्रधानमंत्री आवास योजना में सरपंच सचिवों द्वारा भारी गड़बड़ी करने के मामले लगातार सामने आ रहे है.ताजा मामला लोरमी जनपद पंचायत के चेचान डीह गांव का है, जहां सरपंच आवास स्वीकृत कराने के नाम पर गरीब हितग्राहियों से 10-10 हजार रुपये वसूल रहे हैं.

भोले भाले गरीब ग्रामीणों को पक्के आवास मुहैया कराने के लिए प्रधानमंत्री के नाम पर पीएम आवास योजना की शुरुआत हुई थी लेकिन अधिकारियों की उदासीनता के चलते सरपंच सचिव इस योजना में भारी भ्रष्टाचार कर गड़बड़ियां कर रहे हैं.

ग्रामीण सरपंच पर 10 हजार रुपये लेने का आरोप ग्रामीण लगा रहे हैं. कुछ तो इतने गरीब हितग्राही हैं जिन्होंने अपने आशियाने के सपने को पूरा करने अपने घर का अनाज बेचकर भ्रष्ट सरपंच सुशील यादव को पैसे भी दिये हैं, जिसकी शिकायत कलेक्टर से करने के बाद वे कार्रवाई की उम्मीद में बैठे हैं.

एक हितग्राही अंजनी बाई का कहना है कि सरपंच ने कहा कि उसने पैसा खर्च कर चुनाव जीता है. ऐसे में 10 हजार रुपये देने पर ही आवास का आवेदन आगे बढ़ेगा. एक दूसरे हितग्राही भागवत सिंह का भी कुछ ऐसा ही कहना है.

वहीं ग्रामीण लोरमी आए पंचायत मंत्री अजय चंद्राकर से मिलकर अपनी व्यथा बताने की कोशिश भी की, लेकिन वे मंत्री जी से नहीं मिल सके. मंत्री अजय चंद्राकर ने कहा कि पीएम आवास योजना में सरपंचों का कोई रोल नहीं है. उन्होंने सरपंच के खिलाफ कोई कार्रवाई करने की बजाय पत्रकारों से ही अपील करने लगे कि वे आवास योजना मे बिचौलिये के खिलाफ जागरूकता फैलाएं.

गरीबों के लिये बनाई गई इस योजना में गड़बड़ी का यह पहला मामला नहीं है और यदि जिम्मेदार अधिकारी समय पर कार्रवाई नहीं करेंगे तो आखिर ये गरीब हितग्राही अपनी पीड़ा या शिकायत लेकर कहां जाएंगे.
First published: September 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर