भाजपाई ही बढ़ा सकते हैं लोरमी विधायक की मुश्किलें

मुंगेली जिले की लोरमी विधानसभा सीट जो बहुत हाई प्रोफाइल सीट मानी जाती है. वर्तमान में इस सामान्य सीट पर भाजपा के तोखन साहू का कब्जा है.

Prashant Sharma | News18 Chhattisgarh
Updated: September 11, 2018, 6:57 PM IST
भाजपाई ही बढ़ा सकते हैं लोरमी विधायक की मुश्किलें
सांकेतिक फोटो
Prashant Sharma
Prashant Sharma | News18 Chhattisgarh
Updated: September 11, 2018, 6:57 PM IST
मुंगेली जिले की लोरमी विधानसभा सीट जो बहुत हाई प्रोफाइल सीट मानी जाती है. वर्तमान में इस सामान्य सीट पर भाजपा के तोखन साहू का कब्जा है. कांग्रेस के तीन बार विधायक रहे धर्मजीत सिंह को हराने वाले तोखन साहू को संसदीय सचिव पद दिया गया. वहीं इस बार के चुनाव में वर्तमान विधायक को अपनों के ही कड़े विरोध का सामना करना पड़ सकता है. क्योंकि भाजपा में भी विधायक पद के दावेदारों की संख्या इस विधानसभा सीट से कम नहीं है.

भाजपा युवा मोर्चा के मुंगेली जिला अध्यक्ष अशोक सिंह, जनपद पंचायत अध्यक्ष वर्षा सिंह, भाजपा जिला उपाध्यक्ष विनय साहू, गुरमीत सलूजा, पूर्व विधानसभा प्रत्याशी जवाहर साहू सहित बिलासपुर सांसद लखन लाल साहू का नाम भी दावेदारों में शुमार है. इन सभी दावेदारों ने पार्टी को नियमानुसार अपनी दावेदारी प्रस्तुत कर दी है, पर पार्टी के अनुशासन का हवाला देते हुए मीडिया में खुलकर बोलने से कतरा भी रहे हैं. वहीं दावेदारी और चर्चा में जो नाम सबसे उपर है, वो है बिलासपुर सांसद लखनलाल साहू का.

बिलासपुर सासंद लखन लाल साहू ने विधानसभा चुनाव में दावेदारी से इंकार नहीं कर रहे हैं. उनका कहना है कि पार्टी से दायित्व मिलने पर निर्वहन करेंगे. अन्य टीकाटार्थी भी टिकट के लिये पुरजोर कोशिश में जुटे हैं. पार्टी में उभरे विरोधाभास के सवाल पर संसदीय सचिव व वर्तमान विधायक तोखन साहू ने साफ इंकार करते हुये कहा कि लोकतंत्र में टिकट मांगने का सभी को अधिकार है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर