Assembly Banner 2021

बैगा आदिवासियों की पिटाई के मामले ने पकड़ा तूल, वन विभाग पर कार्रवाई की मांग

बैगा आदिवासियों ने वन विभाग पर मारपीट करने का आरोप लगाया है.

बैगा आदिवासियों ने वन विभाग पर मारपीट करने का आरोप लगाया है.

गा आदिवासियों के समर्थन में लोरम विधायक धर्मजीत सिंह भी उतर गए है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले में बैगा आदिवासियों ने वन विभाग के खिलाफ मोर्चा खोल लिया है. वन विभाग के अधिकारियों पर बैग आदिवासियों से मारपीट का आरोप लगा है. पीड़ित बैगाओं ने दोषि पर कार्रवाई और मामले के जांच की मांग की है. वहीं बैगा आदिवासियों के समर्थन में लोरम विधायक धर्मजीत सिंह भी उतर गए है और बैगाओं को न्याय दिलाने की बात कर रहे है.

ये है पूरा मामला

मुंगेली जिले के लोरमी इलाके के वनांचल में बैगा आदिवासियों की पिटाई का मामला अब तूल पकड़ने लगा है. मुंगेली वनमंडल के अधिकारियों पर बैगाओं की बुरी तरह पिटाई करने का आरोप लगा है. शुक्रवार को पीड़ित बैगाओं को लेकर लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह कलेक्ट्रेट पहुंचे. कलेक्टर और एसपी से मामले की जांच और दोषी वन विभाग के अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है.



बैगाओं के पक्ष में उतरे विधायक
विधायक धर्मजीत सिंह ने 12 जुलाई से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र में भी राष्ट्रपति के दत्तकपुत्र कहे जाने वाले बैगा आदिवासियों की आवाज उठाने की बात कही है. गौरतलब है कि बीते दिनों सरगढ़ी इलाके के बैगाओं के साथ वन विभाग के रेंजर डिप्टी रेंजर पर जमीन कब्जे की बात पर पिटाई करने का आरोप लगा है.

वन विभाग के अधिकारी द्वारा बैगाओं के झाले तोड़ने के साथ खेती के हल और औजार जब्त करने की भी बात कही जा रही है. इस पूरे मामले की शिकायत बैगाओं ने खुड़िया चौकी में दर्ज कराया है. वहीं मामले को तूल पकड़ता देख कलेक्टर डॉ. एसएन भुरे ने मामले के जांच और कार्रवाई का आश्वासन दिया है.

ये भी पढ़ें:
आपसी विवाद के बाद सूरजपुर में युवक की हत्या, आरोपी गिरफ्तार 

छत्तीसगढ़: कई इलाकों में हो सकती है भारी बारिश, सुकमा में तूफान से आफत

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज