छत्तीसगढ़: छेड़खानी का विरोध करने पर बच्ची को जिंदा जलाया, इलाज के दौरान मौत

बच्ची को जिंदा जलाने के मामले में पुलिस जांच कर रही है.

नाबालिग ने मौत से पहले (Before Death) पुलिस को बयान दिया है. इसके बाद स्‍थानीय पुलिस आगे की कार्रवाई में जुट गई है.

  • Share this:
मुंगेली. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के मुंगेली (Mungeli) जिले के ग्रामीण इलाके में दिल दहला देने वाली वारदात (Crime) को अंजाम दिया गया है. घटना मुंगेली के समीप एक गांव की है, जहां मासूम बालिका (14 वर्षीय) घर पर अकेली थी और उसके परिजन किसी काम से बाहर गए थे. उसी वक्‍त गांव का ही एक पड़ोसी युवक बदनीयती से बालिका के घर मे घुस गया और नाबालिग से दुष्कर्म का प्रयास करने लगा, जिसका नाबालिग ने पुरजोर विरोध किया. नाबालिग के विरोध से बौखलाए आरोपी युवक ने अपने साथ लाये मिट्टी तेल (केरोसिन) छिड़क कर नाबालिग को जिंदा जला दिया. इलाज के दौरान बच्‍ची की मौत हो गई.

आग से जलती हुई मासूम चीखते चिल्लाते घर से बाहर निकली, जिससे आसपास मौजूद ग्रामीणों ने भारी मशक्कत के बाद आग बुझाया और 108 संजीवनी वाहन से उसे जिला अस्पताल पहुंचाया. अस्पताल में जिंदगी और मौत से लड़ती नाबालिग ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. मामले की जानकारी लगते ही मुंगेली पुलिस तत्काल हरकत में आई और आरोपी बबलू भास्कर को हिरासत में लिया गया. एसडीओपी तेजराम पटेल ने बताया कि आरोपी बबलू भास्कर को पुलिस हिरासत में लेकर आगे की कानूनी कार्रवाई की जा रही है. घटना बीते बुधवार की बताई जा रही है.

ये भी पढ़ें: पटना में बाइकर्स गैंग का उत्पात: सड़क पर छलकाया जाम, फिर की दर्जनों फायरिंग

नाबलिग ने दर्ज कराया बयान
पुलिस ने बताया कि नाबालिग ने मौत से पहले बयान भी दिया है. इसके आधार पर कार्रवाई की जा रही है. इस घटना से ग्रामीणों में आक्रोश है. वहीं, हफ्ते भर में मुंगेली में नाबालिगों से दुराचार की यह चौथी घटना है. इससे कुछ दिन पहले बेमेतरा में भी एक नाबालिग से खेत में रेप का प्रयास किया गया. विरोध करने पर उसे जिंदा जला दिया गया था. इस बच्ची की भी इलाज के दौरान रायपुर के एक अस्पताल में मौत हो गई थी. इस मामले में आरोपियों की संख्या एक से अधिक बताई गई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.