कीड़े के काट खाने के बाद डॉक्टर ने लगाया इंजेक्शन, 4 घंटे में हुई मौत

मुंगेली में डाक्टर्स की लापरवाही के चलते इलाज के दौरान 7 साल के मासूम की मौत हो गई, जिसके बाद परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा मचाया.

News18 Chhattisgarh
Updated: July 16, 2019, 2:28 PM IST
कीड़े के काट खाने के बाद डॉक्टर ने लगाया इंजेक्शन, 4 घंटे में हुई मौत
कीड़े के काट खाने के बाद डॉक्टर ने लगाया इंजेक्शन, 4 घंटे में हुई मौत (सांकेतिक तस्वीर)
News18 Chhattisgarh
Updated: July 16, 2019, 2:28 PM IST
मुंगेली में डाक्टर्स की लापरवाही के चलते इलाज के दौरान 7 साल के मासूम की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि बच्चे के किसी कीड़े ने काट लिया था, जिसके बाद परिजन उसे इलाज के लिए सरकारी अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे एंटी स्नेक बाइट इंजेक्शन दिया. जिसके महज 4 घंटे के बाद ही बच्चे की मौत हो गई. बच्चे की मौत के बाद घबराए डॉक्टरों ने आनन-फानन में उसका पोस्टमार्टम कराकर शव को परिजनों को सौंप दिया. वहीं अब परिजनों ने बच्चे के इलाज के दौरान डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया है.

डॉक्टर्स ने बच्चे को लगाया एंटी स्नेक बाइट इंजेक्शन

बच्चे को कीड़े काटने के बाद डॉक्टर ने लगाया इंजेक्शन, कुछ देर बाद हो गई मौत (सांकेतिक तस्वीर)
बच्चे को कीड़े काटने के बाद डॉक्टर ने लगाया इंजेक्शन, कुछ देर बाद हो गई मौत (सांकेतिक तस्वीर)


जानकारी के मुताबिक रविवार को जिले के सरईपतेरा गांव के सात वर्षीय बच्चे को किसी कीड़े ने काट लिया था. इस पर परिजन उसे लोरमी के सरकारी अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां रात को ड्यूटी कर रहे डॉक्टर पंकज कंवर ने बच्चे को एंटी स्नेक बाइट इंजेक्शन लगा दिया. इंजेक्शन लगने के कुछ घंटे बाद ही बच्चे की हालत बिगड़ने लगी और कुछ देर बाद बच्चे ने अस्पताल में ही दम तोड़ दिया.

डॉक्टरों पर परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप

इलाज के दौरान बच्चे की हुई मौत, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप
इलाज के दौरान बच्चे की हुई मौत, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप


परिजनों ने डॉक्टरों पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब बच्चे को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, उस समय हंस खेल रहा, लेकिन इंजेक्शन लगने के कुछ घंटे बाद ही उसके मुंह और नाक से झाग निकलना शुरू हो गए और कुछ देर बाद बच्चे की मौत हो गई. परिजनों ने डॉक्टर्स पर आरोप लगाया है कि बच्चे की तबीयत बिगड़ने के बाद भी बच्चे को दूसरे अस्पताल में रेफर नहीं किया और मौत के बाद आनन-फानन में उसका पोस्टमार्टम कराकर शव को परिजनों को सौंप दिया.
Loading...

यह भी पढ़ें- जिला अस्पताल में डॉक्टरों की लापरवाही से महिलाओं की बिगड़ी हालत
First published: July 16, 2019, 2:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...