बाढ़ में खुद ही बूरे फंस गए लोगों को बचाने गए नेता जी, रेस्क्यू टीम ने ऐसे बचाई जान

Prashant Sharma | News18 Chhattisgarh
Updated: September 9, 2019, 12:43 PM IST
बाढ़ में खुद ही बूरे फंस गए लोगों को बचाने गए नेता जी, रेस्क्यू टीम ने ऐसे बचाई जान
मुंगेली जिले के कई इलाकों में बाढ़ के हालात हैं.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में पिछले तीन दिनों से अलग अलग इलाकों में तेज बारिश (Rain) हो रही है.

  • Share this:
मुंगेली: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में पिछले तीन दिनों से अलग अलग इलाकों में तेज बारिश (Rain) हो रही है. लगातार बारिश से कई जिलों में बाढ़ से हालात हो गए हैं. मुंगेली (Mungeli) जिले के कई इलाकों में बाढ़ (Flood) के हालात हैं. मुंगेली के सुरीघाट में बाढ़ में फंसे कुछ लोगों को बचाने के लिए पहुंचे एक नेता जी भी बाढ़ में बूरे फंस गए. रेस्क्यू टीम ने मुश्किल से उनकी जान बचाई. नेता जी पूर्व विधायक भी हैं. बाढ़ में फंसे नेता को बचाने प्रशासनिक अमला सक्रिय हो गया.

मुंगेली (Mungeli) के सुरीघाट में बीते रविवार की शाम को कुछ लोगों के बाढ़ (Flood) में फंसे होने की सूचना पूर्व विधायक (Ex-MLA) और कांग्रेस (Congress) नेता चुरावन मंगेशकर को मिली. इसके बाद चुरावन अपने कुछ साथियों के साथ घटना स्थल पर पहुंचे. वहां कुछ देर देखने के बाद वे खुद ही पानी में उतर गए. कुछ आगे बढ़ने पर पानी का बहाव तेज मिला तो पूर्व विधायक खुद को असुरक्षित महसूस करने लगे. इसके बाद रेस्क्यू टीम ने उन्हें काफी मशक्कत के बाद रस्सियों के सहारे बाहर निकाला.

chhattisgarh, Mungeli, EX MLA
बाढ़ में फंसे पूर्व विधायक चुरावन मंगेशकर.


कवर्धा में भी 20 लोगों को किया रेस्क्यू

छत्तीसगढ़ के कवर्धा के ग्राम डोमसरा में बाढ़ में फंसे करीब 20 लोगों को रेस्क्यू करके बाहर निकाला गया. गांव से होकर बहने वाली हाफनदी का जलस्तर बढ़ने से ये सभी फंस गए थे. गांव के बाहर नदी किनारे तीन-चार परिवार रहते थे. रविवार की सुबह नदी का पानी अचानक बढ़ गया. जब तक कुछ समझ पाते उससे पहले बाढ़ के पानी से चारो तरफ से घिर गए. मामले में प्रशासन के अलर्ट की पोल खोल कर रख दी है. सुबह आठ-नौ बजे से फंसे लोगों को शाम चार बजे बचाया गया. नगर सेना की रेस्क्यू टीम समय रहते यहां नहीं पहुंच सकी. पहुंची भी तो उनकी नाव का मशीन चालू ही नहीं हुई. बांस से नाव की तरह बतवार के सहारे दूसरे किनारे पर पहुंचे. मौके पर जरूर एसडीएम पंडरिया व तहसीलदार,पुलिस की टीम पहुंच गई थी, लेकिन बचाने के उपाय करने के बजाय पानी कम होने का इंतजार करते रहे.

ये भी पढ़ें: सुकमा में सक्सेस हुआ नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन मानसून, मिली ये सफलता  

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ BJP में क्यों गायब हो गई सेकेंड लाइन, क्या हाशिये पर हैं युवा नेता?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मुंगेली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 9, 2019, 12:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...