दो सालों से सूखे की मार झेल रहे किसानों को अच्छी बारिश की उम्मीद

सावन के महीने में भी किसानों के खेती कार्य के लिए मनियारी जलाशय से नहरों के माध्यम से पानी छोड़ा गया है. इससे नहर किनारे के किसानों को राहत मिली और किसानी कार्य आगे बढ़ा है.

Prashant Sharma | News18 Chhattisgarh
Updated: August 9, 2018, 6:16 PM IST
दो सालों से सूखे की मार झेल रहे किसानों को अच्छी बारिश की उम्मीद
धान रोपनी करते किसान
Prashant Sharma
Prashant Sharma | News18 Chhattisgarh
Updated: August 9, 2018, 6:16 PM IST
छत्तीसगढ़ के अधिकांश जिलों में इस बार अच्छी बारिश हुई लेकिन फिर भी राज्य के कुछ ऐसे जिले भी है जहां उम्मीद से कम वर्षा दर्ज की गई है. बारिश का आधा सीजन बीतने को है. उसके बाद भी औसत से कम बारिश होने के कारण मुंगेली जिले के नदी,नाले और खेतों की प्यास नहीं बुझी पाई है. लोरमी की जीवनदायनी मनियारी नदी सहित आगर,रहन नदी और टेसुवा नाले में अब तक जलस्तर नहीं बढ़ा है. साथ ही पूरे जिले में लोरमी इलाके में सबसे कम बारिश हुई है. इसके कारण किसानों को खेती कार्य में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. सावन के महीने में भी किसानों के खेती कार्य के लिए मनियारी जलाशय से नहरों के माध्यम से पानी छोड़ा गया है. इससे नहर किनारे के किसानों को राहत मिली और किसानी कार्य आगे बढ़ा है. लेकिन अभी भी लोरमी,मुंगेली और पथरिया इलाके के किसानों को अच्छी बारिश की आस है. कृषि अधिकारी एस.नेताम का कहना है कि अभी भी इलाके में अच्छी बारिश होनी की संभावना है. बारिश होने से किसानों की फसल होगी. दो साल से सूखे की मार झेल रहे किसनों को लाभ मिलेगा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर