मुंगेली में भी शुरू हुआ मिड-डे-मील में अंडा देने का विरोध

मुंगेली में कबीरपंथी समाज के लोगों ने नगर में रैली निकाली और बड़ी संख्या में कलेक्टोरेट का घेराव करने सोमवार को पहुंचे.

Prashant Sharma | News18 Chhattisgarh
Updated: July 15, 2019, 10:32 PM IST
मुंगेली में भी शुरू हुआ मिड-डे-मील में अंडा देने का विरोध
छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में मिड—डे—मिल के मेन्यू में अंडा को शामिल करने के बाद प्रदेश की सियासत में घमासान मचा है.
Prashant Sharma
Prashant Sharma | News18 Chhattisgarh
Updated: July 15, 2019, 10:32 PM IST
छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में मिड डे मील में अंडा परोसने का विरोध मुंगेली जिले में भी शुरू हो गया है. मुंगेली में कबीरपंथी समाज के लोगों ने नगर में रैली निकाली और बड़ी संख्या में कलेक्टोरेट का घेराव करने सोमवार को पहुंचे. कबीर पंथियों का साफ कहना है कि स्कूल में मध्याह्न भोजन के मीनू से अंडे को हटाया जाये. इससे मांसाहार को बढ़ावा मिलेगा. इसे तत्काल प्रभाव से बंद कर देना चाहिए.

मुंगेली के ​कलेक्टोरे में विरोध करने पहुंचे लोगों ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा, जिसमें मिड डे मील से अंडा हटाये जाने की मांग की है. शिकायतकर्ताओं में शामिल हेमेन्द्र गुरु गोस्वामी ने बताया कि यदि मिड डे मिल में अंडा बांटने पर प्रतिबंध नहीं लगाने पर प्रदर्शन भी किया जााएगा. इस योजना से कबीरपंथियों की भावना को ठेस पहुंचा है. जैन समाज, ब्राह्मण समाज सहित कई समाज कबीरपंथियों के साथ मिलकर इसके विरोध में सामने आ रहा है. इसको लेकर विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा.

विधानसभा में भी उठा मामला
बता दें कि विधानसभा के मॉनसून सत्र में स्कूलों में मिड-डे-मील में अंडा परोसने का मामला जमकर उछला. विपक्षी दल बीजेपी और जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे ने इस मामले पर सरकार को घेरने की कोशिश की. अब सरकार इसको लेकर कुछ ठोस कदम उठाने की तैयारी कर रही है.

ये भी पढ़ें: दोस्त की पत्नी से एकतरफा प्यार करता था युवक, 1 लाख की सुपारी देकर करवा दी हत्या  

 
First published: July 15, 2019, 10:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...